योगी सरकार के ‘5 साल संविदा’ के विरोध में युवाओं का बवाल और विपक्ष का निशाना, क्या है यह कानून

New Delhi: योगी सरकार (Yogi Govt) के सरकारी नौकरी में 5 साल संविदा प्रस्‍ताव (5 Year Contract Proposal) का जमकर विरो’ध किया जा रहा है। गुरुवार को प्रयागराज में इस प्रस्ताव के विरोध में छात्र और युवा सड़कों पर उतर आए। इस दौरान झ’ड़प के बाद पुलिस ने लाठियां भां’जकर प्रदर्शन करने वालों को खदेड़ा। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर प’त्थर फेंकने के साथ कई गाड़ियों में तो’ड़फो’ड़ भी की।

प्रयागराज के बालसन चौराहे पर सरकारी नौकरियों में संविदा नियुक्ति के प्रस्ताव (5 Year Contract Proposal) का विरो’ध कर रहे प्रतियोगी छात्रों पर पुलिस ने बल प्रयोग किया। इसके बाद पुलिस और प्रदर्शनकारी छात्रों के बीच झ’ड़प हो गई। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाड़ियों पर प’थराव किया। पुलिस ने ला’ठीचार्ज किया तो प्रदर्शनकारियों ने प’थराव कर दिया। इस दौरान कई वाहनों में तो’ड़फो’ड़ की गई।

क्या है योगी सरकार का प्रस्ताव जिस पर बरपा है हंगामा

योगी सरकार (Yogi Govt) जिस नए प्रस्ताव (5 Year Contract Proposal) पर विचार कर रही है, उसमें सरकारी नौकरी के पहले पांच साल कर्मचारियों को संविदा पर नियुक्त करने का प्रावधान है।

प्रदेश सरकार (Yogi Govt) का कहना है कि पहले पांच वर्ष नए नियुक्त कर्मचारी संविदा (5 Year Contract Proposal) के आधार पर काम करेंगे और हर 6 महीने में उनका असेसमेंट किया जाएगा। इस असेसमेंट में एक परीक्षा भी कराई जा सकती है, जिसमें न्यूनतम 60 फीसदी अंक पाना जरूरी होगा। 60 प्रतिशत से कम अंक पाने वाले लोग सेवाओं से बाहर कर दिए जाएंगे।

नहीं मिलेगा कोई अतिरिक्त लाभ

नए प्रस्ताव के अनुसार, संविदा की पांच वर्षों की नियुक्ति (5 Year Contract Proposal) के दौरान कर्मचारियों को किसी भी तरह का सर्विस बेनिफिट नहीं मिलेगा। सरकार (Yogi Govt) का तर्क है कि नई व्यवस्था के होने से शासन पर वेतन का बोझ कम होगा और कर्मचारियों की कार्यक्षमता बढ़ेगी। इसके अलावा गवर्नेंस और मजबूत होगा, जिसका लाभ आम लोगों को होगा।

प्रियंका ने बोला ह’मला

वहीं कांग्रेस ने भी योगी सरकार (Yogi Govt) के इस प्रस्ताव का वि’रोध किया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया है कि ‘5 साल संविदा कानून (5 Year Contract Proposal) एक काला कानून है। युवाओं की भर्तियों पर ताला लगाना अन्याय है। इस अ’न्याय के खिलाफ युवा अपना हक मांगने के लिए सड़कों पर उतर रहे हैं तो उनकी बात सुननी चाहिए। आपकी ला’ठी इस युवा ललकार को दबा नहीं सकती।’

अखिलेश बोले- सत्ता के बचे चार दिन

दूसरी तरफ, एसपी सुप्रीमो अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भी ट्वीट के जरिए योगी सरकार (Yogi Govt) पर नि’शा’ना साधा। अखिलेश ने लिखा, ‘जब जवान भी खिलाफ, किसान भी खिलाफ। तब समझो दंभी सत्ता के दिन अब बचे हैं चार। इससे पहले अखिलेश यादव ने बीते बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि सत्ता में वापसी होती है तो वह सबसे पहले संविदा प्रस्ताव को वापस लेंगे।

जगह-जगह हो रहे प्रदर्शन

प्रयागराज के कई इलाकों में प्रदर्शन करने वाले लोगों ने कहा कि सरकार का विरो’ध करने नहीं उतरे हैं, बल्कि सरकार की नीतियों का विरो’ध करने इकट्ठा हुए हैं। सरकार पहले ही रोजगार के मुद्दे पर खेल रही और अब संविदा जैसा काला कानून युवाओं पर थोपने का प्रयास कर रही है, जिसको लेकर प्रयागराज में युवा कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह पर प्रदर्शन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *