Motor Vehicle Act in UP

CM योगी का बड़ा आदेश, ऐम्बुलेंस की राह रोकी तो जुर्माना.. हेल्मेट न लगाने पर अब दोगुना फाइन

New Delhi: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Govt) ने एक बार फिर से मोटर व्हीकल ऐक्ट (Motor Vehicle Act) में संशोधन किया है। इस संशोधन के बाद अब लोगों को यातायात के नियमों को तोड़ने पर भारी जुर्माना भरना पड़ेगा।

इसके अलावा ऐक्ट (Motor Vehicle Act) में संशोधन करके कुछ और श्रेणियां जुर्माने में जोड़ी गई हैं। वहीं इलेक्ट्रॉनिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए बड़ी राहत दी गई है। बिना हेल्मेट के पकड़े जाने पर दोगुना जुर्माना कर दिया गया है। वहीं इमरजेंसी वाहनों को रास्ता न देने पर 10000 रुपये के जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में सरकार ने फैसला लिया कि इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के करों में छूट दी जाएगी। सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि यह छूट इलेक्ट्रॉनिक वाहनों की बिक्री को बढ़ावा देने के लिए दी गई है।

बिना हेल्मेट पकड़े गए तो 1000 तक जुर्माना

सरकार के तमाम प्रयासों के बावजूद लोगों में हेल्मेट को लेकर जागरूकता नहीं दिख रही है। इसलिए अब सरकार ने हेल्मेट न लगाने पर जुर्माना बढ़ा दिया है। प्रवक्ता ने बताया कि पहले बिना हेल्मेट के पकड़े जाने पर 500 रुपये जुर्माना लिया जाता था। अब इसे बढ़ाकर 1000 रुपये कर दिया गया है।

ऐंबुलेस और फायर बिग्रेड को रास्ता न देना पड़ेगा भारी

कई बार लोग फायर बिग्रेड और ऐंबुलेंस को रास्ता नहीं देते हैं। इमरजेंसी वाहनों को रोके जाने को लेकर भी सरकार ने अब जुर्माने का प्रावधान किया है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि फायर बिग्रेड या ऐंबुलेंस का रास्ता रोकने वाले व्यक्ति से अब सरकार 10000 रुपये का जुर्माना वसूलेगी।

इलेक्ट्रॉनिक टू व्हीलर पर नहीं लगेगा रोड टैक्स

सरकार ने कैबिनेट बैठक में फैसला लिया है कि पहले एक लाख इलेक्ट्रॉनिक दो पहिया वाहनों की खरीद पर सरकार रोड टैक्स पर 100 फीसदी छूट देगी। ऐसी ही इलेक्ट्रॉनिक चार वाहनों की खरीद पर सरकार रोड टैक्स में 75 फीसदी छूट देगी। इसके लिए सरकार ने मोटर व्हीकल ऐक्ट की धारा 4 और धारा 6 में संशोधन किया है।

गलत पार्किंग पर 1500 तक जुर्माना

सरकार ने फैसला लिया है कि अब यातायात के नियमों का उल्लंघन करने वालों को भारी जुर्माना देना पड़ेगी। सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि कुछ दिनों पहले ही जुर्माना बढ़ाया गया था लेकिन अब उसमें और बढ़ोत्तरी की गई है। अब पार्किग के नियमों का उल्लंघन करने पर पहली बार में 500 रुपये जुर्माना देना पड़ेगा। दूसरी बार नियम तोड़ने पर जुर्माना 1000 रुपये था, जिसे बढ़ाकर अब 1500 रुपये किया गया है।

अधिकारियों से भिड़ना पड़ेगा मंहगा

ट्रैफिक नियमों को तोड़ने के बाद अगर कोई अधिकारियों से भिड़ता है या उनका कहना नहीं मानता तो उसे भी जेब ढीली करनी पड़ेगी। ऐसा करने पर उस व्यक्ति को एक हजार रुपये जुर्माना देना पड़ेगा। इसके अलावा गलत तथ्य बताकर ड्राइविंग लाइसेंस लेने वालों को 10000 रुपये जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

जुर्माने में शामिल किया गया यह नियम भी

वाहनों के फर्जी दस्तावेज बनकर बेचने के कई मामले सामने आते हैं। पहले इन मामलों को लेकर जुर्माने का कोई प्रावधान नहीं था। कैबिनेट में फैसले के बाद अब इसे भी मोटर व्हीकल ऐक्ट में शामिल किया गया है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि अब अगर कोई व्यक्ति फेक दस्तावेजों के आधार पर वाहन बेचता है तो उसे प्रत्येक वाहन के हिसाब से एक लाख रुपये जुर्माना अदा करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *