UP Top as Mnrega Employer

राजस्थान को पछाड़ CM योगी की यूपी बनी नंबर-1, 57 लाख मजदूरों को मनरेगा के तहत मिला रोजगार

New Delhi: मनरेगा के तहत 57 लाख से भी अधिक मजदूरों को काम देने वाला उत्तर प्रदेश देश (UP Top as Mnrega Employer) का पहला ऐसा राज्य बन गया है।

आंकड़ों के अनुसार, सोमवार तक यहां 57.2 लाख मजदूर मनरेगा (UP Top as Mnrega Employer) के तहत काम कर रहे हैं। इस मामले में यूपी ने राजस्थान को भी पीछे छोड़ दिया है और देश के कुल मनरेगा रोजगार में 18 फीसदी भागीदारी के साथ यूपी पहले नंबर पर आ गया है।

इसके बाद 17 फीसदी भागीदारी के साथ मनरेगा के तहत रोजगार देने वाला राजस्थान दूसरा राज्य है। यहां 53.45 फीसदी मजदूर इस स्कीम के तहत काम कर रहे हैं। तीसरे नंबर पर 36.58 लाख मजदूर के साथ आंध्र प्रदेश है और 12 फीसदी योगदान है। इसके बाद पश्चिम बंगाल और मध्य प्रदेश की बारी आती है। दोनों 26.72 लाख और 23.95 लाख मजदूरों के साथ रोजगार सृजन में 8 फीसदी भागीदारी रखते हैं।

8 करोड़ 8 लाख रोजगार दिवस का सृजन

अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने बताया, ‘पहले राजस्थान हमसे आगे था लेकिन रविवार से यूपी ने पहला स्थान प्राप्त कर लिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर यूपी ने मनरेगा के तहत 57.2 लाख मजदूरों के लिए 8 करोड़ 8 लाख रोजगार दिवस सृजित किए।’

10 लाख रोजगार दिवस का होगा सृजन

अवनीश अवस्थी ने आगे बताया, योगी ने अन्य 10 लाख रोजगार दिवस सृजन करने का आदेश दिया है और हम इसी दिशा में काम कर रहे हैं। रोजगार दिवस सृजन की गिनती 21 अप्रैल से की गई है जिस दिन से सरकार ने मनरेगा के तहत जॉब कार्ड बांटे थे।’

30 लाख से अधिक मजदूर यूपी लौटे

बता दें कि लॉकडाउन के दौरान 30 लाख से अधिक प्रवासी और उनके परिवार यूपी लौटकर आए थे, सरकार और अधिक रोजगार सृजन की कोशिश कर रही है ताकि राज्य में ही कार्यबल मौजूद रहे और काम की तलाश में दूसरे प्रदेशों की ओर पलायन न करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *