Thursday, March 4, 2021
Home > State Varta > पश्चिम बंगाल की जनता के लिए ममता का ऐलान- सबको फ्री में लगवाएंगे कोरोना की वैक्‍सीन

पश्चिम बंगाल की जनता के लिए ममता का ऐलान- सबको फ्री में लगवाएंगे कोरोना की वैक्‍सीन

Webvarta Desk: पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने रविवार को ऐलान किया उनकी सरकार राज्‍य की जनता को फ्री में कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) मुहैया कराएगी।

हाल ही में केंद्र सरकार (Central Govt) ने देश भर में 16 जनवरी से कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) लगाने की घोषण की थी। ममता सरकार (Mamata Govt) के इस फैसले को राज्‍य विधानसभा के चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है।

संभव है कि अगले गुरुवार से बंगाल में कोविड वैक्‍सीनेशन (Corona Vaccination in West Bengal) की शुरुआत हो जाए। राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने जानकारी दी है कि 14 जनवरी से हेल्‍थवर्कर्स को कोरोना वैक्‍सीन की पहली डोज लगाई जाएगी। इन सभी को सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया की कोवीशील्‍ड वैक्‍सीन लगाई जाएगी। इसकी खेप पुणे से कोलकाता पहुंचनी है।

बंगाल में कोरोना से 20 और मौतें, 787 नए केस

इस बीच पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस संक्रमण से 20 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या शनिवार को बढ़कर 9,922 हो गई। वहीं, संक्रमण के 787 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 5,59,886 हो गई।

स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 978 लोग संक्रमण से उबरे हैं, जिसके बाद रोगियों के ठीक होने की दर सुधरकर 96.79 प्रतिशत हो गई। राज्य में कुल 5,41,930 लोग संक्रमण से उबर चुके हैं। अब भी 8,034 लोग वायरस से संक्रमित हैं।

पीएम ने शनिवार को उच्‍च-स्‍तरीय बैठक की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना की स्थिति और टीकाकरण की तैयारियों को लेकर शनिवार को एक उच्च-स्तरीय बैठक की। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने देश में कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होने की तारीख का ऐलान कर दिया।

देश में 16 जनवरी से कोरोना टीकाकरण अभियान शुरू होगा। लोहिड़ी, मकर संक्रांति, पोंगल, माघ बिहु जैसे त्योहारों को देखते हुए 16 जनवरी से वैक्सीनेशन शुरू करने का फैसला किया गया। ये सभी त्योहार 15 तक निपट जाएंगे। 11 जनवरी को पीएम मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक भी करने वाले हैं।

सबसे पहले करीब 3 करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्करों को टीका लगाया जाएगा। इसके बाद 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों और इससे कम उम्र के उन लोगों को टीके लगेंगे जो पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं। ऐसे लोगों की तादाद करीब 27 करोड़ है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में टीकाकरण की तैयारियों और कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए शनिवार को एक उच्च-स्तरीय बैठक की समीक्षा की। बैठक में कैबिनेट सेक्रटरी, पीएम के प्रिंसिपल सेक्रटरी, हेल्थ सेक्रटरी और दूसरे बड़े अधिकारी शामिल हुए। दरअसल, भारत में बनी दो कोरोना वैक्सीनों को सरकार लिमिटेड इमर्जेंसी यूज की इजाजत दे चुकी है।

दो बार हो चुका है ड्राई रन

भारत में कोरोना टीकाकरण के पूर्वाभ्यास के लिए अब तक 2 बार देशव्यापी ड्राई रन भी किए जा चुके हैं। दूसरा देशव्यापी ड्राई रन एक दिन पहले ही शुक्रवार को हुआ था। कोरोना वैक्सीनेशन के ड्राई रन के दौरान अलग-अलग राज्यों से जो शिकायतें आईं हैं, उन्हें ठीक किया जा रहा है। ड्राई रन से पहले ही कुछ राज्यों ने सॉफ्टवेयर, कनेक्टिविटी और ब्रॉडबैंड से जुड़ी समस्याओं पर चिंता जता चुके हैं। देश में कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पहला ड्राई रन 28-29 दिसंबर को 8 जिलों में हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *