Suvendu Adhikari Nomination: BJP उम्मीदवार शुवेंदु ने दाखिल किया नामांकन, नंदीग्राम से लड़ेंगे चुनाव

Webvarta Desk: पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनाव (West Bengal Assembly Election 2021) में नंदीग्राम सीट (Nandigram Seat) हाई-प्रोफाइल हो चुकी है। टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने अपनी पारंपरिक सीट भवानीपुर को छोड़कर नंदीग्राम से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। वहीं भारतीय जनता पार्टी ने टीएमसी छोड़कर आए शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) को नंदीग्राम से चुनावी मैदान में उतारा है।

बीजेपी प्रत्याशी शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) ने हल्दिया में अपना नामांकन दाखिल किया। वे नंदीग्राम सीट से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। अधिकारी ने अपना नामांकन दाखिल करने से पहले नंदीग्राम के जानकीनाथ मंदिर में पूजा की और हवन किया।

नामांकन से पहले शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने रोड शो किया। नामांकन से पहले शुवेंदु अधिकारी ने रैली को संबोधित किया और कहा कि जनता के आशीर्वाद से बंगाल में परिवर्तन आएगा। उन्होंने कहा, ‘मुझे पूरा विश्वास है कि जनता इस बार भाजपा का साथ देगी और बंगाल में असली परिवर्तन के लिए भाजपा को ही लाएगी। प्रतियोगिता का कोई सवाल ही नहीं है, भाजपा ने 2019 में लोकसभा की 18 सीटें जीतीं। इस बार भारी अंतर से मजबूत सरकार बनाएंगे।’

नंदीग्राम सीट को शुवेंदु अधिकारी का गढ़ माना जाता है और साल 2016 में इस सीट से चुनाव जीतकर ममता बनर्जी के नेतृत्व वाले सरकार में मंत्री बने थे। हालांकि पिछले साल उन्होंने टीएमसी से इस्तीफा दे दिया था और भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो गए थे। उन्होंने हाल ही में दावा किया था कि वह ममता बनर्जी को 50 हजार से अधिक वोटों से हराएंगे।

बता दें कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) की 294 विधान सभा सीटों के लिए 8 चरणों में वोटिंग होगी। राज्य में 27 मार्च, एक अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को मतदान होंगे, जबकि चुनाव परिणाम 2 मई को आएंगे। पहले और दूसरे चरण में 30-30 सीटों, तीसरे चरण में 31 सीटों, चौथे चरण में 44 सीटों, पांचवें चरण में 45 सीटों, छठे चरण में 43 सीटों, सातवें चरण में 36 सीटों और आठवें चरण में 35 सीटों पर मतदान करवाया जाएगा।