दिलीप घोष के बिगड़े बोल- 6 महीने में सुधर जाएं ममता दीदी के लोग, नहीं तो हड्डी-पसली तो’ड़ देंगे

New Delhi: पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अगले साल विधानसभा चुनाव (West Bengal Election) होने वाले हैं। चुनाव से पहले सत्‍ताधारी तृणमूल कांग्रेस (TMC) और विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के बीच राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है। ऐसे माहौल में बंगाल बीजेपी अध्‍यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को खुली धम’की दे दी है।

रविवार को एक कार्यक्रम में घोष (Dilip Ghosh) ने कहा, – ‘मैं उ’त्‍पा’त मचाने वाले ममता दीदी के लोगों से कहना चाहता हूं कि वे अपने आपको 6 महीने के भीतर सुधार लें। नहीं तो उनके हाथ, सिर और पसलियां तो’ड़ दी जाएंगी। आप लोगों को घर जाने से पहले अस्‍पताल जाना पड़ जाएगा।’ दिलीप घोष इतने पर भी नहीं थमे। उन्‍होंने कहा- ‘अगर इन लोगों ने ज्‍यादा उ’त्‍पा’त मचाया तो इन्‍हें श्‍म’शान गृह भेज दिया जाएगा।’

पश्चिम बंगाल प्रमुख (Dilip Ghosh) के इस बयान पर राज्‍य की राजनीति में सरगर्मी बढ़ गई है। पिछले कुछ महीनों में बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच टक’राव की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। कई कार्यकर्ताओं की ह’त्‍या की जा चुकी है। पिछले महीने ही दिलीप घोष के काफिले पर वर्धमान जिले में हमला कर दिया गया था। उन्‍होंने तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों पर आरोप लगाया था। हालांकि TMC ने उनके आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था

फेक ट्वीट पर हुआ था वि’वाद

इससे पहले, फेक ट्वीट किए जाने के एक मामले में दिलीप घोष ने तृणमूल कांग्रेस की सांसद काकोली घोष दस्तीदार के खिलाफ कानूनी का’र्रवा’ई की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा था कि काकोली ने उनके वक्तव्य को विकृत कर ट्वीट किया है। घोष ने अपने अधिवक्ता को इस मामले में तृणमूल सांसद के खिलाफ मानहानि की कार्रवाई करने को कहा है।‌

3 दिन पहले बंगाल आए थे अमित शाह

बता दें कि अगले साल होने जा रहे विधानसभा चुनाव की तैयारियों में बीजेपी पूरी तरह से जुट गई है। तीन दिन पहले केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने बंगाल में आदिवासी इलाकों का दौरा किया था। इस मौके पर उन्‍होंने मतुआ समुदाय के परिवार के यहां खाना भी खाया था। शाह ने इस दौरान कई वरिष्‍ठ नेताओं से भी मुलाकात की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *