कुशीनगर : किसानों के समस्याओं को प्रशासन ने कृषक गोष्ठी के माध्यम से सुना

The administration listened to the problems of the farmers

कुशीनगर, 15 सितंबर (ममता तिवारी)। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में किसान दिवस के अवसर पर आज कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद स्तरीय कृषक गोष्ठी का आयोजन किया गया। आयोजन की अध्यक्षता जिलाधिकारी एस. राजलिंगम ने की। इस क्रम में विभिन्न किसानों ने अपनी समस्यायें जिलाधिकारी के समक्ष रखीं। किसानों की विभिन्न समस्याओं के संदर्भ में जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया तथा कृषकों को समस्या समाधान हेतु आश्वस्त भी किया।

इस क्रम में गन्ना किसानों की सर्वे की समस्या, गन्ना मूल्य के समय से भुगतान की समस्या के संदर्भ में जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को इसके समाधान हेतु निर्देशित किया। कुछ कृषको द्वारा ड्रेन की सफाई ना होने से फसल की दुष्प्रभावित होने की बात बताई गई वहीं कुछ ड्रेन के अतिक्रमण की समस्या को उठाया गया। जिलाधिकारी महोदय ने ड्रेन के संदर्भ में बाढ खंड के अधिकारियों को निर्देशित किया तथा ड्रेन की सफाई हेतु भी निर्देश दिया।

उन्होनें किसानों को लिखित आवेदन देने के लिए कहा। कुछ किसानों ने जलजमाव की समस्या उठाई तो कुछ किसानों ने क्रय केंद्रों पर धान और गेहूं की बिक्री संबंधी समस्याएं उठाई। जिलाधिकारी ने इस संदर्भ में डिप्टी आरएमओ को यह निर्देश दिया कि किसानों को यह सूचना होनी चाहिए कि किस तारीख को कितने गेहूं या धान का क्रय किया जा रहा है। एक टोकन व्यवस्था लागू की जाए तथा किसानों को एक टाइम स्लॉट दे दिया जाए।

सीमावर्ती किसानों की समस्या, सोलर पंप नहीं मिलने की समस्या, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, जैसी समस्याएं भी डीएम के संज्ञान में लायी गयी। सोलर पंप के संदर्भ में उप कृषि निदेशक ने कहा कि पिछले साल कुछ समस्याएं थी लेकिन अब उन समस्याओं का समाधान कर लिया गया है । किसान सम्मान निधि के प्रश्न पर जिलाधिकारी महोदय ने तत्काल संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया।

इस क्रम में किसान नेता छोटेलाल सिंह ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि सभी अधिकारीगण शासनादेशों से बंधे होते हैं, जो गाइडलाइन शासनादेश के अनुसार आएगा उसी के अनुसार उनको कार्य करना होता है। हमें यह देखना है कि शासनादेश के अकॉर्डिंग कार्य हो रहा है या नहीं उन्होंने यह भी कहा कि किसान बंधुओं अपनी समस्याओं को लिखित रूप में आवेदन के साथ लाएं तो समस्या समाधान जिलाधिकारी महोदय द्वारा किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक, उप कृषि निदेशक पी आर मौर्या, जिला सूचना अधिकारी कृष्ण कुमार एवं संबंधित अधिकारीगण तथा कृषक अजय कुमार सिंह, बरनवाल, उत्तम भान राय, मार्कंडेय राय इत्यादि उपस्थित थे।