एसडीएम ने किया मिशन पारदर्शी से जनसुनवाई का शुभारंभ

Construction work of medical college started in Kushinagar

गोण्डा, 16 जुलाई (आशीष श्रीवास्तव)। डेढ़ सालों से न तो सही ढंग से तहसील दिवस, थाना दिवस हो पा रहे हैं और न ही शिकायतों का निस्तारण हो पा रहा है। कोरोना संक्रमण से सुनवाई और निस्तारण प्रभावित रहा है। सदर तहसील की जिम्मेदारी आईएएस अधिकारी ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सूरज पटेल को मिली है, इसके बाद नई पहल का दौर शुरू हुआ है। पहले पुलिसिंग में सुधार के लिए समन्वय पर जोर देने के बाद अब जनता के लिए मिशन पारदर्शी शुरू किया है।

शुक्रवार को एसडीएम सूरज पटेल ने तहसील सदर में मिशन पारदर्शी से जनसुनवाई का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 10 बजे से 12 बजे तक तहसील में मिशन पारदर्शी से जन सुनवाई होगी। लंबे समय से समस्याओं का निस्तारण प्रभावित होने से एसडीएम की यह पहल आम जनता को राहत देने वाला है। एसडीएम ने तय किया है कि तहसील सभागार में एक साथ ही सभी राजस्व अधिकारी मिशन पारदर्शी से जनसुनवाई करेंगे।

एसडीएम के साथ ही तहसीलदार, नायब तहसीलदार व पटल के कर्मचारी रहेंगे। आम लोगों को सीधे राहत देने के लिए सामने ही काम कराएंगे। वहीं जांच आदि के बारे में तत्काल निर्णय होंगे, इसकी जानकारी भी शिकायत कर्त्ताओं को होगी। पहले दिन एक दर्जन से अधिक लोगों ने अपनी समस्या सुनाई और निस्तारण भी हुआ। एसडीएम सूरज पटेल की इस पहल की सराहना हो रही है।

तहसील में ही अलग-अलग राजस्व अधिकारी जनसुनवाई करते थे, अब एक साथ होने पर लोगों को एक दूसरे के पास दौड़ना नही पड़ेगा। इसके अलावा बिचौलियों की दखल भी बंद हो जाएगी। एसडीएम ने कहा कि जनता दर्शन का समय तय है तो एक ही परिसर में एक साथ सुनवाई करने से काफी सहजता से लोगों को न्याय दिला सकेंगे। उनके पहल की स्थानीय लोगों ने सराहना किया।