Prayagraj News: मां के लिए बना नकली IPS अफसर, STF ने किया अरेस्ट

प्रयागराज
उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक युवक अपनी मां के लिए फर्जी आईपीएस अफसर बन गया। यूपी एसटीएफ ने सोमवार को प्रयागराज के हाई कोर्ट चौराहे से फर्जी आईपीएस अफसर को धर दबोचा। आरोपी को शक था कि उसकी मां को चुनाव ड्यूटी में लगाकर परेशान किया जा रहा है। इसी चलते वह फर्जी आईपीएस का चोला ओढ़ लिया।

नकली आईपीएस बनने के पीछे है ये कहानी
प्रयागराज सिविल लाइंस थाने के इलाहाबाद हाई कोर्ट अंबेडकर मूर्ति के पास से अरेस्ट हुआ नकली आईपीएस अफसर विपिन कुमार चौधरी मूल रूप से कौशांबी जिले का रहने वाला है। युवक प्रयागराज के राजरूपपुर में एक किराये का कमरा लेकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता है। आरोपी की मां फतेहपुर में परिषदीय विद्यालय में शिक्षिका हैं।

आरोपी विपिन की मां जिस स्कूल में शिक्षिका हैं। उसी में सुशील सिंह भी सहायक अध्यापक के पद पर तैनात हैं। आरोपी विपिन को लगता था कि बीआरसी में जान पहचान होने के कारण सुशील उसकी मां की ड्यूटी चुनाव और अन्य कार्यों में लगवाकर परेशान करता है। इसी का बदला लेने के लिए फर्जी आईपीएस अफसर बन गया। सुशील पहले बतौर शिक्षामित्र फतेहपुर के परसिद्धपुर धाता में तैनात था। आरोपी 2006 से 2019 तक के अध्यापकों की उपस्थिति संबंधी रिकॉर्ड की छायाप्रति ले ली। आरोपी इसी के सहारे वह सुशील सिंह को ब्लैकमेल कर रहा था।

navbharat timesPrayagraj News: घरेलू विवाद में एक परिवार पर लाठी-डंडों से हमला, बुजुर्ग की मौत, दो घायल
एसटीएफ ने धर दबोचा
यूपी एसटीएफ को पिछले कई दिनों से शिकायतें मिल रही थीं कि परिषदीय विद्यालय के अध्यापक को एक नकली आईपीएस अफसर ब्लैकमेल कर रहा है। जिसकी शिकायत भुक्तभोगी सुशील सिंह ने पुलिस से की थी। इसी शिकायत के आधार पर प्रयागराज सिविल लाइंस इलाके के अंबेडकर मूर्ति चौराहे के पास से आरोपी विपिन चौधरी को एसटीएफ ने वर्दी पहने हुए अरेस्ट कर लिया है। पकड़े गए नकली आईपीएस ऑफिसर के पास से मोबाइल फोन और शिक्षा विभाग से जुड़े कुछ कागजात बरामद हुए हैं।