18.1 C
New Delhi
Monday, November 28, 2022

Lakhimpur Khiri: न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना का लाभ अधिकतम किसानों को बिना किसी असुविधा के दिलाया जाए- जिलाधिकारी

लखीमपुर खीरी (वेबवार्ता)-  डीएम ने मंडी समिति में स्थापित विपणन के छह, पीसीएफ 09, पीसीयू 07 एवं एफसीआई का एक क्रय केंद्र का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं की पड़ताल की। उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक कांटे की क्रियाशीलता, पावर डस्टर बोरे एवं किसानों के लिए पेयजल की उपलब्धता सहित बैठने की व्यवस्था देखी। डीएम ने कहा कि धान खरीद 2022 शासन की शीर्ष प्राथमिकता है।

IMG 20221015 WA0270

न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना का लाभ अधिकतम किसानों को बिना किसी असुविधा के दिलाया जाए। धान खरीद में किसी भी किसान को परेशानी ना उठानी पड़े, यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराया जाए। यदि किसी किसान को परेशान करने की बात प्रकाश में आई तो संबंधित क्रय केंद्र प्रभारी के खिलाफ कठोर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने निर्देश दिए कि ऑनलाइन पंजीकरण कराकर अपना धान बेचने आए किसानों को फैसिलिटेट कराए, ताकि उन्हें कोई असुविधा ना हो। निर्देश दिए कि शासन द्वारा निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य (कामन धान हेतु रु.2040 प्रति कुंटल एवं ग्रेड-ए के धान के लिए रु. 2060 प्रति कुंटल) का भुगतान 72 घंटे के भीतर पीएफएमएस (पब्लिक फाइनेंस मैनेजमेंट सिस्टम) के जरिए किसानों के बैंक खातों भेजना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि यह व्यवस्था और अधिक पारदर्शी और त्वरित भुगतान सुनिश्चित करेगी । उन्होंने कहा कि क्रय केंद्रों पर धान बेचने से पूर्व किसान भाई गीले धान को सुखा लें, मानक के अनुरूप धान को क्रय केंद्रों पर लाकर उसकी बिक्री करें और न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना का लाभ उठाएं।

किसी भी असुविधा की दशा में जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी/अपर जिला खरीद अधिकारी संतोष कुमार पटेल मो. 8433286284, एआरसीएस पीके शुक्ल मो. 9450382374 या संबंधित तहसील के उपजिलाधिकारी से संपर्क करें। आवश्यकतानुसार जिला खरीद अधिकारी/ एडीएम अथवा उनसे संपर्क करें।

क्रय केंद्रों पर धान बेचने के लिए किसान कराएं पोर्टल पर पंजीकरण

डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने जनपद के किसानों से अपील करते हुए कहा कि सरकारी क्रय केंद्रों पर धान की फसल बेचने के लिए खाद्य विभाग के पोर्टल fcs.up.gov.in पर पंजीकरण कराए। ताकि संबंधित उप जिलाधिकारियों द्वारा ससमय सत्यापन कराते हुए खरीद सुनिश्चित करा सके।

ई पॉप मशीन पर अंगूठा लगाकर होगी खरीद

डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि सभी क्रय केंद्रों पर ई पॉप (इलेक्ट्रॉनिक-प्वाइंट आफ परचेज) मशीन लगाई गई है। ऑनलाइन पंजीकृत किसान क्रय केंद्र पर उपलब्ध ई-पोप मशीन में अंगूठा लगाकर गेहूं बेच सकेंगे। बताते चलें कि खरीद को पारदर्शी बनाने के लिए ई-पोप मशीन से धान खरीद की जा रही है। किसान अंगूठा लगाकर अपनी फसल बेचकर अनुमन्य न्यूनतम समर्थन प्राप्त कर सकेंगे , किसानों को 72 घंटे में बैंक खाते में मिलेगा पेमेंट ।

जिले में 154 धान क्रय केंद्र हो रहे संचालित

डीएम महेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि जिले में धान की खरीद के लिए कुल 154 क्रय केंद्र स्थापित एवं संचालित है। जिसमें विपणन 28 पीसीएफ 62 पीसीयू 49, यूपीएसएस 11 एवं एफसीआई के चार क्रय केंद्र शामिल है। जिनमें इलेक्ट्रॉनिक कांटा, नमी मापक यंत्र, पावर डस्टर, बोरे सहित किसानों के बैठने एवं पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,122FollowersFollow

Latest Articles