सभी योजनाओं को समयावधि में पूरा किया जाये : आनंद स्वरूप शुक्ल

-मंत्री ने की कुशीनगर जिले में चल रहे सरकारी योजनाओं की समीक्षा

-मंत्री ने सीडीओ के कार्यों की प्रशंसा

कुशीनगर, 21 अगस्त (ममता तिवारी)। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में राज्यमंत्री संसदीय कार्य/ग्रामीण विकास एवं समग्र ग्राम विकास उत्तर प्रदेश आनंद स्वरूप शुक्ल का जनपद कुशीनगर आगमन हुआ। उनके व्यस्त कार्यक्रम में फाजिलनगर विकास खंड में ब्लॉक प्रमुख निवास पर व तमकुहीराज विकास खंड में बैठक के बाद देर रात तक होटल ओम रेजिडेंसी कसया में जनपद के विभागीय अधिकारियों के साथ विकास कार्यो की समीक्षा बैठक हुई।

इस बैठक में मंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना, पोषाहार कार्यक्रम, बिजली बिल कनेक्शन, बैंकिंग सखी, सामुदायिक शौचालय निर्माण, एनआरएलएम योजना के अंतर्गत संचालित कार्यक्रम, महिला समूह के कार्यक्रम, जनपद में विभिन्न प्रकार के उत्पादों संबंधित कार्य, मनरेगा कार्यों में महिलाओं की सहभागिता, ग्राम रोजगार सेवक के रिक्त पद, मनरेगा के अंतर्गत अभिनव कार्य आदि की समीक्षा की गई।

पीएम आवास योजना के संदर्भ में विभिन्न विकास खंडों से आए विकासखंड अधिकारियों से भी चर्चा हुई और आवास योजना के संदर्भ में तृतीय किश्त का जल्द से जल्द भुगतान करने का निर्देश दिया गया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में आवास के नाम पर कहीं पैसा ना लिया जाए। बी डी ओ, परियोजना निदेशक, पंचायत सचिव तथा संबंधित अधिकारियों के नंबर पंचायत भवन, विद्यालय एवं सार्वजनिक स्थानों पर डिस्प्ले किया जाए और कोई भी शिकायत आने पर संबंधित के खिलाफ कार्यवाही की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि पंचायत सचिव हफ्ते में काम से कम एक दिन वहाँ बैठे।

मंत्री द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या इस संदर्भ में मीटिंग आयोजित की जाती है। मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक ने जवाब दिया कि बी डी ओ के द्वारा हर सप्ताह मीटिंग की जाती है और उनके द्वारा एक बार सारे पंचायत सचिवों की बैठक सोमवार और बुधवार को ली जाती है। मंत्री के समक्ष परियोजना निदेशक के द्वारा यह मुद्दा उठाया गया कि 20-22 साल पहले आवंटित लाभार्थियों के आवास जर्जर अवस्था मे है। यदि उन लाभार्थियों के आवास का मौके पर निरीक्षण के बाद दुबारा पात्रता दी जाए। तो जरूरतमंद लोगों को लाभ मिल सकता है। मंत्री ने मनरेगा में क्या क्या कार्य चल रहे हैं। इसके बारे में भी चर्चा की। इस संदर्भ में मनरेगा पार्क की जानकारी सीडीओ ने दी।

सीडीओ अनुज मलिक ने बताया कि एक अभियान के रूप में हर न्याय पंचायत में एक मनरेगा पार्क बनाया जा रहा है। मंत्री ने मनरेगा पार्क से संबंधित फोटोग्राफ्स भी देखें और उन्होंने इस निर्माण कार्य पर काफी संतोष व्यक्त किया तथा यह भी बताया कि इस तरीके का निर्माण कार्य एक काफी अच्छा कार्य है। और अन्य जनपदों के लिए भी यह एक प्रेरणा स्रोत बनेगा। इस क्रम में मंत्री ने निर्माणाधीन मनरेगा पार्क कार्यस्थल देखने की भी इच्छा जताई। कार्यो में महिलाओं की सहभागिता, ग्राम रोजगार सेवकों की रिक्त पद की स्थिति, मनरेगा के अभिनव कार्यों में बंबू प्लांटेशन की स्थिति की समीक्षा की गई। जिसे बिंदुवार मुख्य विकास अधिकारी ने मंत्री को बताया।

बी.सी सखी, महिलाओं के समूह को रोजगार देने की भी चर्चा इस बैठक में की गई। महिला स्वयं सहायता समूह पर जोर देते हुए मंत्री ने बताया कि इससे महिलाओं का स्वाभिमान और आत्मसम्मान दोनों बढ़ता है, उनके जीवन में बदलाव आता है, उनकी आयु बढ़ती है और गरीबी उन्मूलन में सहायता मिलती है।

मंत्री ने खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित करते हुए बताया कि ब्लॉक में जितने भी कार्य पेंडिंग है जैसे पेंशन से संबंधित, शादी अनुदान से संबंधित या अन्य सरकारी योजनाओं से संबंधित, उस कार्य को यथाशीघ्र पूरा करें। उन्होंने कहा कि यह निश्चित रूप से देखा जाए कि कोई भी योजना पेंडिंग ना रहे। पब्लिक को बार-बार कार्यालय में ना आना पड़े। उन्होंने कहा कि विकासखंड आम लोगों की जरूरतों से जुड़ा हुआ है।

इस क्रम में मंत्री ने मनरेगा के संदर्भ में बोलते हुए बताया कि लोगों को कैसे रोजगार दें। इसके लिए नए नए कार्य तलाशें। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी की प्रशंसा करते हुए कहा कि मुख्य विकास अधिकारी काफी अच्छा कार्य कर रही है। समूह की महिलाओं के बारे में उन्होंने बताया कि उनको उत्पादन के लिए प्रशिक्षण दें। कोई नया उत्पाद बतावे, उत्पादों की गुणवत्ता सुनिश्चित करें, उत्पादों को कैसे बाजार उपलब्ध किया जाए यह सुनिश्चित किया जाए।

सीडीओ ने बताया कि जनपद कुशीनगर में प्रेरणा कैंटीन चल रही है, और हर ब्लॉक तहसील में इस तरीके की कैंटीन को चलाने की योजना है। उन्होंने कुशीनगर के उत्पादों के एक ब्रांड के बारे में भी चर्चा की जिसे कुशीनारा ब्रांड नाम दिया गया है। इनके द्वारा चप्पल, हल्दी, वर्मी कंपोस्ट, स्ट्रॉबेरीज इत्यादि का निर्माण किया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि कार्यालय में ऐसी चीज दिखाई देनी चाहिए जो समूह की महिलाओं ने बनाया हो। हम जहां भी रहे उनका प्रचार-प्रसार हो उनको अवसर मिले।

इस संदर्भ में मंत्री ने महिला रोजगार हेतु कुछ सुझाव भी दिए जैसे लड़कियों के विद्यालयों के लिए महिला वाहन चालिका, बुजुर्ग लोगों की देखभाल करने के लिए महिला सहायिका। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि मनरेगा पार्क में जगह का चयन हो और आवास योजना की तीसरी किस्त भी दे दी जाए। अधिकारी भ्रमण के द्वारा यह देखे कि कितने आवास पूरे हुए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक, परियोजना निदेशक राजनाथ भगत, समस्त विकास खंड अधिकारी संदीप सिंह, डी सी एन आर एल एम तथा जिला सूचना अधिकारी कृष्ण कुमार उपस्थित थे।