CM योगी का बड़ा फैसला, यूपी में 30 सितंबर तक धार्मिक कार्यक्रम पर लगा पूरी तरह बैन

New Delhi: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Govt) ने कोरोना के चलते यूपी में 30 सितम्बर तक के लिए सभी धार्मिक आयोजनों को बैन कर दिया गया है मुख्य रूप से ये फैसला गणेश उत्सव (Ganesh Utsav) और मुहर्रम (Muharram) को देखते हुए लिया गया है।

यूपी में लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए ये फैसला मंगलवार को हुई बैठक में लिया गया है। सीएम योगी (CM Yogi) ने मंगलवार को अधिकारियों के साथ बैठक में कहा है कि कोरोना वायरस के मद्देनजर धार्मिक आयोजनों और सांस्कृतिक आयोजनों पर 30 सितम्बर तक के लिए पूरी तरह रोक लगा देनी चाहिए।

मुहर्रम और गणेश उत्सव को देखते हुए लिया गया फैसला

गणेश उत्सव (Ganesh Utsav) और मुहर्रम (Muharram) को देखते हुए ये फैसला लेना स्वाभाविक भी है क्योंकि दोनों ही त्यौहार धार्मिक मान्यता पर आधारित है और हर साल देश भर में धूम धाम से मनाए जाते है। वहीं मुहर्रम पर ताजिया निकलने पर भी सरगर्मी तेज हो गयी है।

मुहर्रम के जुलूस पर काफी विवा’द भी देखने को मिला है. देश भर में मुहर्रम के मौके पर ताजिया निकाला जाता है। लेकिन कोरोना वायरस के चलते गाइडलाइंस अनुसार इसकी इजाजत नहीं है। इसके खिलाफ सुन्नी वक्फ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर की थी जिसे कोर्ट ने खारिज तक कर दिया था।

झूठा प्रचार फैलाने पर मिलेगी सख्त सजा

मंगलवार को हुई इस बैठक में योगी आदित्यनाथ ने ये साफ तौर पर कहा कि झूठा प्रचार फैलाने पर सख्त करवाई की जाएगी वही योगी ने इस दौरान सायबर सेल को सोशल नेटवर्क पर भी नजर रखने के निर्देश दिए है।

योगी ने ये भी साफ कर दिया है जो भी नियम तोड़ने की कोशिश भी करेगा उसके खिलाफ सख्त एक्शन भी लिया जाएगा 30 सितम्बर तक के लिए योगी ने सभी सार्वजनिक आयोजनों पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है।