UP में 24 घंटे बिजली की तरफ सरकार ने बढ़ाए कदम, CM योगी की इन 26 जिलों को बड़ी सौगात

New Delhi: उत्तर प्रदेश में मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित एक कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने 26 जिलों के लिए 28 विद्युत उपकेंद्रों (Power Substations) का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया।

इस दौरान सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (COVID-19) संकट के दौरान भी उत्तर प्रदेश पावर कार्पोरेशन (UPPCL) द्वारा ₹3,135.34 करोड़ की लागत से विद्युत उपकेंद्रों (Power Substations) की एक श्रंखला प्रदेश की जनता को आज अर्पित की जा रही है। आज के इस कार्यक्रम से जुड़े केंद्रीय मंत्रियों, यूपी के ऊर्जा मंत्री, ऊर्जा राज्यमंत्री, सांसदों, विधायकों और इस योजना के लिए निरन्तर क्रियाशील सभी वरिष्ठ अधिकारियों को मैं हृदय से बधाई देता हूं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के ऊर्जा विभाग ने पिछले 3 वर्षों में एक बेहतर कार्य-संस्कृति को आगे बढ़ाकर, ऊर्जा विभाग के प्रति आमजन के विश्वास को सुदृढ़ करने में सफलता प्राप्त की है। मैं इसके लिए पावर कारपोरेशन को हृदय से धन्यवाद देता हूं। हमारा निरंतर प्रयास है कि ‘पावर फॉर ऑल’ में हम आदरणीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा के अनुरूप प्रत्येक घर तक, आने वाले समय में, 24 घंटे की बिजली आपूर्ति कर सकें।

इस संकल्प को और भी सुदृढ़ करने की दिशा में उपकेंद्रों के शिलान्यास और लोकार्पण की यह कड़ी जोड़ी जा रही है। यह कार्य इसलिए सम्भव हो पा रहा है क्योंकि केंद्र और प्रदेश सरकार व जनप्रतिनिधि, सभी सकारात्मक भाव के साथ कार्य कर रहे हैं।

सीएम ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान पिछले ढाई महीनों में बगैर लॉकडाउन से प्रभावित हुए विद्युत की आपूर्ति सुनिश्चित करने में यूपी पावर कारपोरेशन ने सफलता प्राप्त की है। सामान्यतः पूरे प्रदेश में विद्युत वितरण की स्थिति इस दौरान शानदार रही है। प्रसन्नता है कि आज प्रदेश सरकार द्वारा ₹1,881.78 करोड़ की लागत से जिन परियोजनाओं को पूरा किया गया है, उनका लोकार्पण कार्यक्रम सम्पन्न हो रहा है। वहीं ₹1,253.56 करोड़ की लागत से नई योजनाओं के शिलान्यास का कार्यक्रम सम्पन्न हो रहा है।

इन जिलों को मिला लाभ

इससे चित्रकूट, महोबा, बलरामपुर, उन्नाव, लखनऊ, सुल्तानपुर, अमेठी, प्रयागराज, बलिया, गोरखपुर, बस्ती, फिरोजाबाद, कानपुर, मथुरा, आगरा, मेरठ, गाजियाबाद और मुजफ्फरनगर में विद्युत व्यवस्था मजबूत होगी। वहीं ₹1,253.56 करोड़ की लागत से नई योजनाओं के शिलान्यास का कार्यक्रम सम्पन्न हो रहा है। उससे मऊ, शामली, बरेली, लखीमपुर, लखनऊ, जौनपुर, बदायूं, गौतमबुद्धनगर में नए बिजली उपकेंद्र बनेंगे।

1 करोड़ 24 लाख से अधिक ऐसे परिवारों को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन

सीएम योगी ने कहा कि ‘सबको बिजली और हरदम बिजली’के लक्ष्य को लेकर हम निरंतर कार्य कर रहे हैं। व्यापक सुधार की कार्रवाई को आगे बढ़ाने के लिए प्रदेश सरकार निरंतर प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि यूपी में 1 करोड़ 24 लाख से अधिक ऐसे परिवारों को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराया गया, जिनके लिए आजादी के बाद से बिजली को देखना तक दूभर था। न केवल विद्युत कनेक्शन दिए गए, बल्कि इसके लिए लगभग पौने 2 लाख मजरों तक विद्युतीकरण के कार्य का विराट लक्ष्य भी प्राप्त किया गया।

उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालयों में 23 से 24 घंटे विद्युत आपूर्ति, तहसील मुख्यालयों में 20 से 21 घंटे की विद्युत आपूर्ति, ग्रामीण क्षेत्र में 17 से 18 घंटे विद्युत आपूर्ति, बुंदेलखंड क्षेत्र में 20 से 21 घंटे तक विद्युत आपूर्ति का संकल्प हो।

लॉकडाउन के बाद भी लोकार्पण करने वाला पहला राज्य है यूपी

सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश पहला ऐसा राज्य है, जो लॉकडाउन के बाद भी कई परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास के कार्यक्रम को आयोजित कर रहा है। सकारात्मक सुझाव व सहयोग देने के लिए मैं केंद्र सरकार, मंत्रीगणों व जनप्रतिनिधियों का आभार व्यक्त करता हूं। मुझे पूर्ण विश्वास है कि सभी के सहयोग से प्रदेश सरकार के समस्त विभाग जनता की भावनाओं के अनुरूप विकास के नए प्रतिमान स्थापित करने के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य करेंगे।

यूपीपीसीएल की तरफ से 10 लाख 50 हजार मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए

कार्यक्रम के दौरान ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और राज्यमंत्री रमाशंकर सिंह पटेल द्वारा यूपी पॉवर कॉरपोरेशन की पुलिस सतर्कता इकाई की ओर से ‘मुख्यमंत्री का पीड़ित सहायता कोष-कोविड केयर फंड’ में सहयोगार्थ धनराशि ₹10.50 लाख का चेक भेंट किया गया। इस अवसर पर डीजी, पॉवर कॉरपोरेशन कमल सक्सेना एवं डीआईजी पॉवर कॉरपोरेशन साधना गोस्वामी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *