Unnao Case: दो की मौत, तीसरी लड़ रही जिंदगी की जंग, हमलावर हुआ विपक्ष- ‘हाथरस नहीं दोहराने देंगे’

Webvarta Desk: उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले (Unnao Case) के असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा गांव में तीन नाबालिग लड़कियां (Unnao Three Minor Girls) खेत में दुपट्टे से बंधी हुई मिली थीं।

इस घटना (Unnao Case) के बाद लड़कियों को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां दो को मृत घोषित कर दिया गया। वहीं, तीसरी लड़की की गंभीर हालत को देखते हुए उसे कानपुर के रीजेंसी अस्पताल रिफर किया गया है। इस मामले को लेकर विपक्ष लगातार प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Govt) पर निशाना साध रहा है। उधर, पुलिस प्रथम दृष्ट्या इसे पॉयजनिंग का मामला बता रही है।

इन सबके बीच अहम यह है कि जहां एक तरफ प्रशासन ने दुष्कर्म की बात से साफ इनकार किया है। वहीं, एसपी नेता सुनील सिंह यादव मामले में दुष्कर्म की बात जोड़ रहे हैं।

आप नेता संजय सिंह बोले…

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने ट्वीट किया, ‘अत्यंत भयावह आदित्यनाथ जी का राज बेटियों के लिए कब्रगाह बन गया है। उन्नाव की घटना दिल दहला देने वाली है। आखिर कब रुकेगी ये दरिंदगी।’

कांग्रेस नेता ने भी किया ट्वीट

कांग्रेस नेता आराधना मिश्रा मोना ने भी इस घटना को लेकर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘उन्नाव के असोहा थाना क्षेत्र में 3 लड़कियां दुपट्टे से बंधी मिलीं। दो लड़कियां मृत मिलीं। दुर्भाग्यपूर्ण, कैसे पढ़ेंगी बेटियां, कैसे बढ़ेंगी बेटियां। सरकार तमाशबीन है। बेटियों की होती निर्मम हत्या देश की बेटियां बर्दाश्त नहीं करेंगी। दोषियों पर तत्काल कठोर कार्रवाई हो।’

चंद्रशेखर ने भी की टिप्पणी

आजाद समाज पार्टी के नेता चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट किया, ‘यूपी के उन्नाव की घटना बहुत भयावह है। दो दलित बच्चियों की लाश मिली है। एक जख्मी है। बच्ची को तत्काल एयर ऐम्बुलेंस से एम्स दिल्ली लाया जाए। हम अब किसी भी कीमत पर हाथरस नहीं दोहराने देंगे। हमारी टीम मौके पर जा रही है। बहनों की सुरक्षा और सम्मान से कोई समझौता नहीं।’