कोरोना की जंग में आगे आया टाटा ग्रुप, 20 एंबुलेंस, 100 वेंटिलेटर्स और 10 करोड़ रुपये का दिया दान

New Delhi: Tata Group Donate 10 Crore, 20 Ambulances and 100 Ventilators: सदी की सबसे बड़ी त्रासदी माने जा रहे कोरोना संक्रमण (corona infection) ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है। भारत में 7 लाख से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव हैं। डर के इस माहौल में कई बिजनेस घराने मदद को आगे आए हैं। इनमें टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन रतन टाटा (Ratan Tata) काफी आगे हैं।

कोरोना काल में मुंबई बीएमसी और टाटा ग्रुप (Tata Group) मिलकर प्लाज्मा प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। इसी प्रोजेक्ट के तहत टाटा ग्रुप (Tata Group) ने बीएमसी को 10 करोड़ रुपये के साथ 100 वेंटिलेटर्स के साथ 20 एम्बुलेंस की मदद की है।

सीएम उद्धव ठाकरे ने टाटा ग्रुप (Tata Group) की तारीफ करते हुए कहाँ के कोरोना के संकट में समाज के कई स्तर से मदद मिल रही है ऐसे टाटा ग्रुप जैसे बडी संस्था जब मदद करती है तो हौसला और बढ़ जाता है हम कोरोना की लढाई जरूर जीतेंगे।

वहीं इस कोरोना काल में मुंबई बीएमसी और टाटा ग्रुप मिलकर प्लाज्मा प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। इसी प्रोजेक्ट के तहत टाटा ग्रुप ने बीएमसी को 10 करोड़ रुपये के साथ 100 वेंटिलेटर्स के साथ 20 एम्बुलेंस की मदद की है।

मरीजों के खाने का किया इंतजाम

कोरोना को कंट्रोल करने के लिए देश के सभी अस्पतालों में डॉक्टर, नर्स और अन्य मेडिकल कर्मी दिन-रात काम कर रहे हैं। वे अपने जीवन और परिवार की परवाह छोड़कर इस मुहिम में जुटे हुए हैं। इंफेक्शन का डर इतना है कि वे घर तक नहीं जा रहे हैं। ऐसे में उनको दो वक्त का खाना भी ठीक से नसीब नहीं हो रहा है। इन हालात में टाटा ग्रुप के ताज होटेल ने मुंबई में मेडिकल कर्मियों, मरीजों के लिए खाने का प्रबंध किया है।

पहले भी 1500 करोड़ रुपये की मदद का किया ऐलान

रतन टाटा के किसी आपदा में दान का यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी वे मदद के लिए आगे आते रहे हैं। इससे पहले टाटा ट्रस्ट ने कोरोना से निपटने के लिए 500 करोड़ का ऐलान किया था। टाटा ग्रुप के चेयरमैन रतन टाटा ने कहा कि इसके लिए इमर्जेंसी रिसोर्स की जल्द से जल्द आपूर्ति होनी चाहिए। वहीं मार्च माह में टाटा ग्रुप के बाद टाटा सन्स ने 1000 करोड़ रुपये का ऐलान किया था। कुल मिलाकर अब तक 1500 करोड़ रुपये की घोषणा की जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *