दिल्ली दं’गा: कोर्ट ने माना- ताहिर हुसैन ने मुस्लिमों को हिं’सा के लिए भ’ड़काया था

New Delhi: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की चार्जशीट के आधार पर कोर्ट (Delhi Court) ने कहा है कि आम आदमी पार्टी से बर्खास्त पार्षद ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) ने भीड़ को हिं’सा के लिए उकसाया।

बता दें कि ताहिर (Tahir Hussain) पर इंटेलिजेंस ब्यूरो के स्टाफ अंकित शर्मा की ह’त्या (Ankit Sharma) का भी आ’रोप है। कोर्ट (Delhi Court) ने कहा कि ताहिर हुसैन के कथित उक’सावे पर मुस्लिम हिं’सक हो गए और हिंदू समुदाय पर प’थरा’व शुरू कर दिया था। दिल्ली के दं’गे इस साल फरवरी में हुए थे। कोर्ट ने इस दं’गे के सभी आरोपियों को 28 अगस्त या फिर उससे पहले वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हाज़िर होने को कहा है।

ताहिर ने फैलाया दं’गा!

कोर्ट (Delhi Court) ने कहा कि पूर्वी दिल्ली में सुनियोजित तरीके से दं’गे भड़काए गए और इस दं’गे की अगुवाई ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) कर रहे थे। अदालत ने ये भी कहा कि आरोपी ताहिर हुसैन ने दं’गाइयों को अपनी छत का इस्तेमाल करने दिया।

इसके अलावा उन्होंने अपने छत पर हिंसा फैलाने के लिए सामान भी दिए ताकि बड़े पैमाने पर दं’गे हो सकें और दूसरे समुदाय के जानमाल का नुक’सान हो। अदालत ने कहा, ‘प्रथम दृष्टया आरोपी ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) अपने घर से और 24 और 25 फरवरी को चांद बाग पुलिया के पास मस्जिद से भी भीड़ का नेतृत्व कर रहे थे।’

ताहिर ने अपने समुदाय को उकसाया

अदालत (Delhi Court) ने कहा कि हुसैन (Tahir Hussain) ने कथित तौर अपने समुदाय को उकसाया और यह दावा करते हुए हिंदुओं और मुसलमानों के बीच धर्म के आधार पर कट्ट’रता को बढ़ावा दिया कि हिंदुओं ने कई मुसलमानों को मा’र डाला है।

बता दें कि अंकित शर्मा की ह’त्या से संबंधित मामले में आरोपपत्र 50 पन्नों में है और इसमें नौ अन्य लोगों के साथ हुसैन (Tahir Hussain) को मुख्य आरोपी बनाया गया है। अन्य आरोपियों में अनस, फिरोज, जावेद, गुलफाम, शोएब आलम, सलमान, नजीम, कासिम, समीर खान शामिल हैं। सभी आ’रोपी जेल में हैं।

अंकित के शरीर पर 51 घा’व के निशान

चार्जशीट में कहा गया है कि ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) चांद बाग पुलिया की तरफ से भीड़ को लेकर आगे बढ़े। फिर इन सबने अंकित शर्मा को पकड़ा। इसके बाद उन्हें ताहिर के घर के पास ले कर गए। धारदार हथियार से हम’ला किया गया। ह’त्या के बाद अंकित शर्मा के श’व को पास के नाले में फेंक दिया गया।

ऑटोप्सी रिपोर्ट से पता चला है कि उनके शरीर पर 51 घा’व के निशान थे। आरोप पत्र में कहा गया है कि इस ह’त्या से वहां के निवासियों के मन में एक ड’र पैदा करने की कोशिश की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *