CM योगी बोले- मस्जिद के उद्घाटन में नहीं जाऊंगा, तो भड़की सपा.. कहा- माफी मांगिए

New Delhi: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने हाल ही में कहा था कि अगर अयोध्या (Ayodhya) में बनने वाली मस्जिद (Masjid) के उद्घाटन के लिए उनको बुलाया भी जाता है तो वह नहीं जाएंगे।

इसपर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने सख्त ऐतराज जताते हुए कहा है कि सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। कांग्रेस ने कहा कि BJP के लोग बताना चाहते हैं कि राम केवल उनके हैं जबकि राम सबके हैं, ये लोग फर्जी हिंदुत्व की राजनीति करते हैं।

राम मंदिर के भूमि पूजन (Ram Mandir Bhumi Pujan) के बाद योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा था कि एक योगी और एक हिंदू के तौर पर वह मस्जिद (Masjid) के उद्घाटन के लिए नहीं जा सकते हैं। इस बारे में जब कांग्रेस प्रवक्ता से संपर्क किया गया तो उन्होंने कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

दरअसल, योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने राम मंदिर के भूमि पूजन (Ram Mandir Bhumi Pujan) के बाद पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा था, ‘अगर आप मुख्यमंत्री के तौर पर पूछेंगे तो मुझे किसी भी धर्म, समुदाय या आस्था से कोई समस्या नहीं है। लेकिन अगर आप मुझसे योगी के तौर पर पूछेंगे तो हिंदू होने के नाते मैं नहीं जा सकता क्योंकि मुझे अपनी उपासना विधि का पालन करने का पूरा अधिकार है।’

‘मुझे बुलाएंगे तो कई लोगों का सेक्युलरिज्म खतरे में पड़ जाएगा’

मस्जिद उद्घाटन के न्योते के संदर्भ में सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) ने कहा था, ‘मैं ना तो वादी हूं, ना प्रतिवादी हूं। इसलिए ना तो मुझे बुलाया जाएगा और ना ही मैं जाऊंगा। मुझे मालूम है कि मुझे ऐसा कोई न्योता नहीं मिलने वाला है। जिस दिन वे मुझे बुलाएंगे, कई लोगों का सेक्युलरिज्म खतरे में पड़ जाएगा। इसलिए मैं नहीं चाहता कि इसपर कोई खतरा आए। मैं शांति से काम करना चाहता हूं कि सरकार की योजनाओं का लाभ हर किसी को बिना भेदभाव के मिलता रहे।’

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के प्रवक्ता पवन पांडेय ने योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने इस बयान की निंदा करते हुए कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ का उल्लंघन किया है। पवन पांडेय ने कहा, ‘वह पूरे राज्य के मुख्यमंत्री हैं सिर्फ हिंदू समुदाय के नहीं। राज्य में जो भी हिंदू-मुस्लिम लोग हैं, वह सबके मुख्यमंत्री हैं। इस भाषा से मुख्यमंत्री की गरिमा का अपमान होता है। इसके लिए उन्हें लोगों से माफी मांगनी चाहिए।’

कांग्रेस ने टिप्पणी करने से किया इनकार

वहीं, इस पूरे मामले पर यूपी कांग्रेस के मीडिया सेल संयोजक ललन कुमार ने कहा कि इस संबंध में उनकी पार्टी का कोई बयान नहीं है। हालांकि, उन्होंने रामजन्मभूमि का ताला खुलवाने के लिए राजीव गांधी को क्रेडिट जरूर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि ये लोग फर्जी हिंदुत्व की राजनीति करते हैं। कांग्रेस ने हमेशा से लोगों के हित की बात की है। राम सबके हैं लेकिन बीजेपी दिखाना चाहती है कि राम सिर्फ उसके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *