69000 शिक्षक भर्तीः शिक्षामित्रों को SC का झटका, योगी सरकार के कटऑफ को बताया सही, याचिका खारिज

New Delhi: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बहुचर्चित 69 हज़ार शिक्षक भर्ती (69000 Techers Bharti) मामले में 37 हजार 339 पदों की भर्ती को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने बुधवार को बड़ा फैसला सुनाया है।

शिक्षामित्रों को बड़ा झटका देते हुए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने राज्य सरकार (Yogi Govt) के मौजूदा कट ऑफ को सही ठहराया है। उन्होंने कहा कि अपीलकर्ता शिक्षामित्रों को नियुक्ति का मौका अगली भर्ती में दिया जाए। यह कहते हुए सर्वोच्च अदालत ने शिक्षामित्रों की याचिका को खारिज कर दिया।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में इस मामले में हुई बहस के बाद कोर्ट ने 24 जुलाई को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। सुप्रीम कोर्ट को यह तय करना था कि परीक्षा के बीच में क्या कटऑफ फीसदी बदलकर 60-65 फीसदी किया जा सकता है? इस मामले में शिक्षामित्रों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और सरकार के फैसले को चुनौती दी थी।

याचिकाकर्ताओं की क्या थी दलील

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस यूयू ललित की अगुवाई वाली बेंच के सामने शिक्षामित्रों की ओर से सीनियर एडवोकेट राजीव धवन और राकेश द्विवेदी की ओर से दलील दी गई थी कि असिस्टेंट टीचर की भर्ती परीक्षा में सामान्य वर्ग के लिए कटऑफ 45 फीसदी और रिजर्व कैटगरी के लिए 40 फीसदी रखा गया था, लेकिन पेपर के बीच में उसे बढ़ा दिया गया और उसे 65-60 फीसदी कर दिया गया। यह गैर कानूनी कदम है क्योंकि पेपर के बीच में कटऑफ नहीं बढ़ाया जा सकता है।

इसके साथ ही यह दलील दी गई थी कि बीएड स्टूडेंट इस असिस्टेंट टीचर की परीक्षा के लिए पात्रता नहीं रखते क्योंकि उन्होंने ब्रिज कोर्स नहीं किया है। असिस्टेंट टीचरों के लिए ये जरूरी है कि आवेदक छह महीने का ब्रिज कोर्स करें।

यूपी सरकार ने याचिका का किया था विरोध

सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ताओं की दलील का यूपी सरकार ने विरोध किया था और यूपी सरकार की ओर से अडिशनल सॉलिसिटर जनरल एश्वर्य भाटी ने दलील दी थी कि कटऑफ तय करना गलत नहीं है और बीच परीक्षा में भी ये हो सकता है।

सुप्रीम कोर्ट ने 9 जून को क्या कहा था

सुप्रीम कोर्ट ने 9 जून को यूपी सरकार से कहा था कि वह सहायक टीचरों की भर्ती के दौरान 37 हजार पदों को फिलहाल न भरे। यूपी में 69 हजार असिस्टेंट टीचरों की भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। ऐसा अनुमान से बताया जा रहा है कि करीब 37 हजार शिक्षा मित्र हैं जिन्हें असिस्टेंट टीचर की परीक्षा में 40 से 45 फीसदी नंबर आए हैं।

यूपी के 69 हजार असिस्टेंट टीचरों की भर्ती को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को नोटिस जारी कर जवाब दाखिल करने को कहा था। यूपी सरकार ने टीचरों की भर्ती में एग्जाम के बाद कट ऑफ तय किया था जिसे शिक्षामित्रों की ओर से सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है।