सत्येंद्र जैन की बीमारी ने दिल्ली सरकार और गृह मंत्री अमित शाह को दे दी टेंशन

New Delhi: दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain) को कोरोना के लक्षण के बाद कल रात अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

उनका (Satyendar Jain) अभी कोरोना टेस्ट का रिजल्ट नहीं आया है लेकिन उनकी बीमारी ने दिल्ली सरकार को टेंशन दे दी है। राज्य में कोरोना महामारी से निपटने में रात-दिन लगे जैन के बीमार होने के कारण आज होने वाली कई अहम बैठकों को रद्द कर दिया गया है।

शाह की बैठक समेत कई बैठकों में हुए थे शामिल

जैन (Satyendar Jain) ने खुद ट्वीट कर राजीव गांधी अस्पता में भर्ती होने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि तेज बुखार और सांस लेने में तकलीफ के बाद उन्हें अस्पताल में एडमिट कराया गया है। ऐहतियातन जैन का कोरोना टेस्ट भी कराया गया है। सबसे बड़ा सवाल ये है कि अगर जैन का कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आया तो फिर मुश्किल ज्यादा बढ़ जाएगी।

जैन ने पिछले कुछ दिनों में गृह मंत्री अमित शाह समेत कई अधिकारियों और राजनेताओं के साथ बैठक की थी। ऐसे में इन सभी लोगों को क्वारंटीन में जाना होगा। हालांकि ये सब जैन के टेस्ट के नतीजे पर निर्भर है।

दिल्ली में कोरोना से जंग, जैन के कंधे पर जिम्मेदारी

दिल्ली में कोरोना से जंग की जिम्मेदारी जैन के कंधों पर थी। ऐसे में अरविंद केजरीवाल सरकार को इस मोर्चे पर काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। जैन देर रात तक मीटिंग में व्यस्त रहते थे।

दिल्ली के अस्पतालों में कोरोना के इलाज की व्यवस्था देखने से लेकर टेस्ट के मामले तक जैन देख रहे थे। आने वाले दिनों में कोरोना के मामले बढ़ने की बात खुद सीएम केजरीवाल कह चुके हैं। ऐसे जैन दिल्ली में इस महामारी से निपटने के इंतजामों में लगे हुए थे। यानी उनकी बीमारी से राज्य सरकार के लिए मुश्किलें बढ़ सकती है।

दिल्ली में कोरोना की तेज रफ्तार

राजधानी दिल्ली में कोरोना की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। राज्य में अबतक कोरोना के 42, 829 मामले सामने आ चुके हैं। 16,427 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं जबकि 1,400 लोगों को इस जानलेवा बीमारी ने लील लिया है। सीएम केजरीवाल ने कुछ दिन पहले कहा था कि राज्य में 31 जुलाई तक 5.32 लाख तक मामले सामने आ सकते हैं।

शाह ऐक्टिव, बनाया ऐक्शन प्लान

इस बीच दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार हरकत में आ गई है। खुद गृह मंत्री अमित शाह ने कमान संभालते हुए दिल्ली के लिए बड़ा ऐक्शन प्लान तैयार किया है। दिल्ली सरकार भी केंद्र के साथ मिलकर इस महामारी से निपटने के लिए कदम से कदम मिलाने को तैयार है। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा था वह इस बीमारी से निपटने के लिए मिलकर काम करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *