यूपीः असली अनामिका शुक्ला को मिला रोजगार, स्कूल में मिली टीचर की नौकरी

New Delhi: उत्तर प्रदेश में जिस अनामिका शुक्ला (Anamika Shukla) के नाम पर कई लोगों ने फर्जी तरीके से टीचर की नौकरी हासिल कर ली, वहीं अब असली अनामिका शुक्ला को गोंडा में नौकरी का ऑफर दिया गया है।

जिले के एक स्कूल के प्रबंधक ने शुक्रवार को अनामिका शुक्ला (Anamika Shukla) को नौकरी का लेटर दिया और कहा कि उनके साथ नाइंसाफी हुई है और इसलिये उन्हें नौकरी दी जा रही है। स्कूल प्रबंधक का कहना है कि अनामिका के साथ नाइंसाफी हुई है, इसलिए उन्हें नौकरी दी जा रही है।

कस्तूरबा मे अनामिका के डिग्री पर फर्जीवाडे के बाद आया नया मोड़ जिले के एक स्कूल प्रबन्धक ने असली अनामिका (Anamika Shukla) को प्रबन्ध समिति की आवश्यक बैठक कर प्राइमरी सेक्शन में सहायक अध्यापक पर नियुक्त पत्र देकर तीन दिनों के अन्दर अपने समस्त शैक्षिक और प्रशिक्षण प्रमाण पत्रों के साथ ज्वाइन करने को कहा गया है।

जारी किया गया लेटर

दरअसल भैया चन्द्रभान दत्त स्मारक विद्यालय राम पुर टेगरहा तहसील तरबगंज की प्रबन्ध समिति की बैठक में विद्यालय के प्राइमरी सेक्शन में छात्रों की संख्या अधिक होने के कारण शुक्रवार को एक आवश्यक बैठक कर समिति के सदस्यों द्वारा अनामिका शुक्ला को भुलई डीह पोस्ट कमरावा जनपद गोण्डा में प्राइमरी सेक्शन में उनकी योग्यता के अनुसार सहायक अध्यापक के पद पर नियुक्ति पत्र जारी कर दिया गया है।

1 करोड़ की सैलरी लेने का मामला आया था सामने

बता दें कि अनामिका शुक्ला का नाम एक ही पद पर 25 स्कूलों में था और 13 महीने में वह एक करोड़ रुपये की सैलरी ले चुकी थी। बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षकों का डेटाबेस बनाना शुरू किया था और इसके बाद विभाग को अनामिका शुक्ला का नाम 25 स्कूलों की लिस्ट में मिला था। विभाग ने तुरंत इस पूरे मामले की जांच के आदेश दिए थे।

मुश्किल वक्त में मिला सहारा

उक्त पत्र भैया चन्द्रभान दत्त स्मारक विद्यालय प्राइमरी अनुभाग रामपुर टेगरहा तरबगंज गोण्डा के प्रबन्धक दिगविजय पाण्डेय ने शुक्रवार को नियुक्त पत्र जारी कर बेरोजगार अनामिका शुक्ला को नौकरी देकर रोजगार दिया जिसको लेकर अनामिका ने कहा कि उन्हें इस मुश्किल दौर में सहारा मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *