राम मंदिर: ईंट लेकर अयोध्या रवाना हुए मुस्लिम राम भक्त, बोले- धर्म बदलने से पूर्वज नहीं बदलते

New Delhi: Muslim Ram Bhakt: अयोध्या में राम मंदिर (Ram Mandir) भूमि पूजन को लेकर राम भक्तों का उत्साह चरम पर है। इस बीच मुस्लिम राम भक्त भी मंदिर निर्माण को लेकर बेहद उत्साहित हैं। दशकों तक चले इस विवाद के बाद एक बार फिर दोनों धर्मों के लोगों के बीच दूरियां कम होती हुई दिख रही हैं।

मुस्लिम भक्तों (Muslim Ram Bhakt) में भी राम मंदिर के निर्माण को लेकर उत्साह है। फैज खान छत्तीसगढ़ में अपने गांव से मंदिर निर्माण के लिए ईंटें ला रहे हैं, वहीं तीन अन्य मुस्लिम राम भक्त 5 अगस्त को अयोध्या में होने वाले भूमि पूजन में शामिल होंगे।

भूमि पूजन में होंगे शामिल

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक छत्तीसगढ़ के रहने वाले फैज खान अपने गांव से मंदिर के भूमि पूजन के लिए ईंट लेकर जा रहे हैं जबकि अन्य तीन मुस्लिम राम भक्त प्रभु राम का आशीर्वाद लेने के लिए भूमि पूजन में शामिल होंगे।

इमाम-ए-हिंद थे भगवान राम

अखबार ने कम से कम पांच मुस्लिम भक्तों, राजा रईस, वसी हैदर, हाजी सईद, जमशेद खान और आज़म खान से बात की, जो राम को-इमाम-ए-हिंद ‘मानते हैं। अखबार से बात करते हुए, जमशेद खान, राम भक्त और फैजाबाद के निवासी राम कई उन राजपूतों के पूर्वज हैं, जिन्होंने बाद में इस्लाम अपना लिया।

उन्होंने आगे बताया, ‘हमने बाद में इस्लाम में धर्म अपना लिया और इस्लाम के अनुसार प्रार्थना की एक प्रणाली अपनाई, लेकिन हमारे धर्म को बदलने से हमारे पूर्वजों नहीं बदल जाते। हमें विश्वास है कि राम हमारे पूर्वज थे और हम इस अवसर को अपने हिंदू भाइयों के साथ मनाएंगे।’

सईद अहमद, जो हज करके लौटे हैं, वह एक कट्टर मुस्लिम हैं, लेकिन राम भक्त भी हैं। सईद बताते हैं कि हम भारतीय मुस्लिम मानते हैं कि राम इमाम-ए-हिंद थे इसलिए मैं मंदिर निर्माण का जश्न मनाने के लिए अयोध्या में रहूंगा।

मनाएंगे जश्न

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के प्रांत प्रभारी, डॉ. अनिल सिंह ने पुष्टि की कि राम भक्त, फैज़ खान का अयोध्या में अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ से ईंटों के साथ आ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘भारत भर से कई मुस्लिम कारसेवक हैं, जो उत्सव में भाग लेने के लिए मंदिर शहर आ रहे हैं।’

फैजाबाद के निवासी रशीद अंसारी ने कहा, ‘यह एक आशीर्वाद होगा, अगर हमें गर्भगृह में प्रवेश करने का मौका मिलता है, जहां नींव प्रधानमंत्री द्वारा रखी जाएगी। यदि सुरक्षा घेरे में हमारी प्रवेश नहीं होता है तो हम तब भी उसके बाहर जश्न मनाएंगे।’

पीएम करेंगे भूमि पूजन

आपको बता दें कि अयोध्या में आगामी पांच अगस्त को राम मंदिर के ‘भूमि पूजन’ समारोह होना है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाग लेंगे। उनके अलावा जिन लोगों को आमंत्रित किया जा रहा हैं उनमें भाजपा के वयोवृद्ध नेता लालकृष्ण आडवाणी तथा मुरली मनोहर जोशी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *