Income Tax Department

राजस्थान में सियासी संकट के बीच क्यों पड़े आयकर छापे? ये है बड़ी वजह

New Delhi: आयकर विभाग (Income Tax Department) ने सोमवार को राजस्थान, दिल्ली और महाराष्ट्र में तीन बिजनस घरानों के खिलाफ तलाशी अभियान चलाया। डिपार्टमेंट ने बताया कि उसने इन बिजनस समूहों के 43 परिसरों में छापेमारी की जिनमें 20 जयपुर, 6 कोटा, 8 दिल्ली और 9 मुंबई में स्थित हैं।

विभाग के मुताबिक, इनमें एक ग्रुप होटल, पनबिजली परियोजना, मेटल और ऑटो सेक्टर आदि में काम करता है। वहीं, दूसरे ग्रुप का कारोबार सोने-चांदी के आभूषणों, चांदी की बहुमूल्य वस्तुओं का है। इस ग्रुप का इंग्लैंड, अमेरिका जैसे देशों में सहायक कंपनियां काम कर रही हैं। साथ ही, उन देशों में ग्रुप की प्रॉपर्टीज और बैंक अकाउंट्स हैं।

डिपार्टमेंट ने कहा कि तीसरा ग्रुप होटल बिजनस से जुड़ा है। इन बिजनस समूहों में निवेश के स्रोतों की पुष्टि नहीं हो पाई है। कुछ खुले कागजातों, डायरियों और डिजिटल फॉर्म में डेटा पाए गए हैं। आगे की जांच जारी है।

राजनीतिक उठापटक के बीच छापेमारी

दरअसल, यह छापेमारी (Income Tax Department) ऐसे वक्त हुई जब राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच सियासी खींचतान चल रही है। कर विभाग में आधिकारिक सूत्रों ने यह पुष्टि नहीं की कि क्या यह छापे राज्य में कांग्रेस नेतृत्व से जुड़े हुए हैं। वहीं, दिल्ली और राजस्थान में पार्टी सूत्रों ने छापों के समय को लेकर सवाल उठाए और इस कार्रवाई की निंदा की।

कांग्रेसी नेता बने निशाना?

राजस्थान में कांग्रेस नेता राजीव अरोड़ा और धर्मेंद्र राठौर से जुड़े परिसरों पर छापेमारी की गई। आयकर विभाग के दल को जयपुर में आम्रपाली जूलर्स के शोरूम में जाते देखा गया, बताया जाता है कि इसके मालिक राजीव अरोड़ा हैं। अरोड़ा राजस्थान कांग्रेस के उपाध्यक्ष हैं, वहीं राठौर राज्य बीज निगम के पूर्व अध्यक्ष हैं।

बड़े पैमाने पर तलाशी

अधिकारियों ने दिन में बताया था कि दिल्ली, जयपुर, मुंबई और कोटा में छापेमारी की कार्रवाई तड़के शुरू की गई और इस दौरान प्रमोटरों और मालिकों के परिसरों की तलाशी ली जा रही है। उन्होंने कहा कि इस कार्रवाई में पुलिस अधिकारियों के अलावा कर विभाग के कम से कम 80 कर्मचारी जुटे हैं। उन्होंने बताया कि विभाग ने यह कार्रवाई नकदी के बड़े लेन-देन से जुड़ी जानकारी मिलने और पनबिजली समूह द्वारा लाभ को कम कर दिखाए जाने की सूचना के बाद की।

क्यों की छापेमारी, जानें

जिस कारोबारी समूह के परिसरों पर छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है, वह हाइड्रो मैकेनिकल उपकरणों से जुड़ा काम करता है और उसे 2018 में राजस्थान में बांध निर्माण के संबंध में ठेका दिया गया था। विभाग ने एक लग्जरी होटल में भी छापेमारी की जिसका शेयरधारक आर के शर्मा नाम का व्यक्ति है। मॉरीशस से कथित तौर पर भेजी गई 96 करोड़ रुपये की रकम में विदेशी मुद्रा कानून के उल्लंघन के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी शर्मा की जांच कर रहा है। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले ईडी ने भी कुछ लोगों से पूछताछ की थी।

कांग्रेस ने बीजेपी को लगाई लताड़

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने राजस्थान में पार्टी से जुड़े कुछ लोगों के परिसरों पर आयकर विभाग द्वारा छापा मारे जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री अमित शाह पर निशाना साधा। सुरजेवाला ने कहा,’बीजेपी कितने भी षडयंत्र करे, मोदी सरकार कितने भी प्रपंच रचे, बीजेपी कितने भी हथकंडे अपनाए, ईडी, सीबीआई और आईटी कितनी भी छापेमारी करे वे चुनी हुई सरकार को नहीं गिरा पाएंगे क्योंकि यही राजस्थान की जनता का जनमत है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *