Rajasthan: बजट सत्र में CM गहलोत ने फिर खोला पिटारा, स्टेडियम और गर्ल्स कॉलेज जैसी 65 घोषणाएं

Webvarta Desk: राजस्थान विधानसभा के बजट सत्र (Rajasthan Budget Session) में गुरुवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Gehlot) ने बजट-बहस के बाद फिर से पिटारा खोला। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों के लिये 65 घोषणायें की।

गहलोत (CM Gehlot) ने चिकित्सा और शिक्षा विभाग से शुरुआत करते हुये पर्यटन, कृषि, शिक्षा, राजस्व आदि क्षेत्रों की मांगों पर नई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। इनमें 784 ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर चरणबद्ध तरीके से उपस्वास्थ्य केन्द्रों की स्थापना, जोधपुर के महात्मा गांधी अस्पताल में ऑर्थो स्पाइन युनिट खोले जाने की घोषणा भी की गई।

सीएम अशोक गहलोत की प्रमुख घोषणाएं….
  • तूंगा, जावाल और खेड़ली में औद्योगिक केन्द्र स्थापित किए जाएंगे।
  • प्रत्येक नगरपालिका में एक, नगर परिषद् में 3, नगर निगम में 5 ओपन जिम स्थापित किए जाएंगे।
  • 5 हजार डेयरी बूथों का आवंटन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • 5 हजार डेयरी बूथों का आवंटन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • जयपुर के चारदीवारी क्षेत्र में सीवर लाइन और अन्य कार्यों पर 50 करोड़ खर्च होंगे।
  • सांगोद में 2 करोड़ की लागत से रिवर फ्रंट विकसित होगा।
  • सीकर के फतेहपुर में सिटी नेचर पार्क का निर्माण होगा।
  • जयपुर के चारदीवारी क्षेत्र में सीवर लाइन और अन्य कार्यों पर 50 करोड़ खर्च होंगे।
  • सांगोद में 2 करोड़ की लागत से रिवर फ्रंट विकसित होगा।
  • आगामी वर्ष से उच्च शिक्षा में चरणबद्ध रूप से क्रेडिट बेस्‍ड प्रणाली लागू करना प्रस्तावित है।
  • नागौर के डीडवाना में कन्या महाविद्यालय खोला जाएगा।
  • भरतपुर के डीग और कुम्हेर में खेल स्टेडियम बनाए जाने प्रस्तावित हैं।
  • किसान ई-मंडी की स्थापना की घोषणा भी की गई है।
  • चार स्थानों पर कृषि महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी।
  • बामनवास और रैणी में कृषि उपज मंडी की स्थापना की जाएगी।
  • रामदेवरा के विकास और सौन्दर्यीकरण के लिए 2 करोड़ रुपए का प्रावधान।
  • भरतपुर के सीकरी और उदयपुर के भीण्डर में उपखण्ड कार्यालय खोले जाएंगे।
  • सीनियर जर्नलिस्ट्स की पेंशन 10 हजार प्रतिमाह से बढाकर 15 हजार किया जाना प्रस्तावित है।
  • बेघर उत्थान एवं पुनर्वास नीति-2021 लाई जाएगी।
  • 20 करोड़ रुपये राशि से वाल्मिकी कोष बनाया जाएगा।
  • डूंगरपुर के सागवाड़ा में 5 करोड़ की लागत से वागड़ सांस्कृतिक केन्द्र का निर्माण होगा।
  • तूंगा, जावाल और खेड़ली में औद्योगिक केन्द्र स्थापित किए जाएंगे।
  • प्रत्येक नगरपालिका में एक, नगर परिषद् में 3, नगर निगम में 5 ओपन जिम स्थापित किए जाएंगे।
  • टोडाभीम में 15 करोड़ की लागत से बाईपास बनाया जाएगा।
  • 329 करोड़ की लागत से हनुमानगढ़ में 400 केवी ग्रिड सब स्टेशन स्थापित किया जाएगा।
  • राज्य प्रदूषण मंडल के 10 नए क्षेत्रीय कार्यालय खोले जाएंगे।
  • वन सुरक्षा और विकास पर 2 वर्षों में 150 करोड़ रुपए खर्च होंगे।