राजस्थान ऑडियो टेप लीक पर कांग्रेस का सख्त एक्शन, पायलट के 2 MLA सस्पेंड.. रखी 6 डिमांड

New Delhi: Rajasthan Audio Tape Leaked: राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री सचिन पायलट (Ashok Gehlot vs Sachin Pilot) के बीच जारी सियासी खींचतान पर कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा कि पिछले करीब एक महीने विधायकों के खरीद फरोख्त की चर्चा चल रही है।

सुरजेवाला ने कहा, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) में एक मुकदमा दर्ज है, जिसपर जांच भी चल रही है। कई प्रकार की अटकलें लगाई गईं, 35 करोड़ रुपये तक में विधायकों की निष्ठा और विश्ववास खरीदकर राजस्थान की आठ करोड जनता के जनमत से चुनी गई कांग्रेस की सरकार को अस्थिर करवाने और गिराने के षडयंत्र सामने आए। इस पूरे प्रकरण में बीजेपी कई बार प्रश्न चिन्ह के दायरे में आई। बीजेपी और कांग्रेस की तरफ से वाद-विवाद हुए।

उन्होंने कहा कि बीजेपी ने जनमत का चीर हरण करने की कोशिश की हैं। बीजेपी अब बेनकाब हो गई है, उनके षडयंत्र की परतें खुलने लगी हैं। अब ये साफ है कि बीजेपी और मोदी सरकार चीन या कोरोना से जंग करने के बजाय सत्ता लूटने का काम कर रही है। मोदी सरकार ने कोरोना संक्रमण के बीच मध्य प्रदेश में लोकतंत्र का चीरहरण कर डाला।

पूरा देश कोरोना जब कोरोना से कराह रहा था तब बीजेपी के लोग कांग्रेस के विधायकों का हरण कर मध्य प्रदेश में लोकतंत्र को तार-तार कर रही थी। 24 मार्च को जब मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार को इन्होंने गिरा दिया तब जाकर लॉकडाउन लागू किया था। बीजेप और मोदी सरकार कोरोना, आर्थिक मंदी और चीन से जंग करने के बजाय सत्ता लूटने के षडयंत्र में लगी है। इस पर उन्होंने गलत प्रांत को चुनौती दे दी। वे राजस्थान की जनता के जज्बे को समझ नहीं पाए।

कल शाम मीडिया के माध्यम से दो ऑडियो टेप सामने आए हैं, जिसमें तथाकथित तौर से केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत, कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा और बीजेपी एमएलए संजय जैन की बातचीत सामने आई है। इस तथाकथित बातचीत में पैसों की सौदेबाजी, विधायकों की निष्ठा खरीदने और राजस्थान की सरकार गिराने का षडयंत्र सामने आया है। ये अपने आप में लोकतंत्र का काला अध्याय है।

सुरजेवाला ने ऑडियो टेप में कही गई बातों का जिक्र करते हुए कहा कि इसमें साफ तौर से कहा जा रहा है कि सरकार गिरानी है। इस ऑडियो में भंवरलाल कह रहे हैं अमाउंट की बात हो गई है। हालांकि विधायकों की संख्या को लेकर बातचीत में संशय बात कही जा रही है। प्रेस कॉन्फ्रेंस सुरजेवाला ने ऑडियो की ट्रांसस्क्रिप्ट सुनाया।

ऑडियो टेप सामने आने पर कांग्रेस की डिमांड..
  1. सुरजेवाला ने मांग की कि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के ऊपर एसओजी मुकदमा दर्ज करे। पूरी जांच हो। अगर पद का दुरुपयोग कर जांच को प्रभावित करने का अंदेशा हो तो, वारंट लेकर गजेंद्र शेखावत को गिरफ्तार किया जाए।
  2. कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा और बीजेपी नेता संजय जैन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई हो।
  3. विधायकों की खरीद-फरोख्त में पैसों का आदान-प्रदान किस प्रकार से और कहां से हो रहा है। इन पैसों का इंतजाम कौन कर रहा है। हवाला से ट्रांसफर कैसे हुआ, इसकी जांच हो।
  4. जांच में ये भी खुलासा हो, केंद्र की कौन सी एजेंसियां राजस्थान की सरकार को गिराने की कोशिश कर रहे हैं।
  5. इस बात का भी जांच हो कि इस ऑडियो टेप के अलावा विधायकों की खरीद-फरोख्त में और कौन-कौन लोग शामिल हैं।
  6. विधायकों की खरीद-फरोख्त के इस मसले पर सचिन पायलट भी सार्वजनिक तौर से अपनी स्थिति स्पष्ट करें।
भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह कांग्रेस से निलंबित…

सुरजेवाला ने भंवरलाल शर्मा को इस टेप की सत्यता जांच पूरी होने तक कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त करने की घोषणा की। विश्वेंद्र सिंह को भी कांग्रेस निलंबित कर दिया गया है। दोनों विधायकों से सो कोल्ड नोटिस दिया गया है।

मुझे पैसे ऑफर किए गए: चेतन डूडी

इसी टेप में भवंरलाल शर्मा की ओर से कांग्रेस विधायक चेतन डूडी का नाम लिया जा रहा है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद चेतन डूडी ने बताया कि उन्हें किस तरह से पैसे ऑफर किए गए। डूडी ने बताया कि इस तथाकथित ऑडियो में मेरा नाम है। मैं इतना कहना चाहूंगा कि मुझे प्रलोभन देने की कोशिश की गई, जिसे मैंने ठुकरा दिया। आगे जो भी जांच होगी मैं उसमें पूरा सहयोग करुंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *