एनआरएमयू ने सीनियर डीओएम के विरोध में भी किया प्रदर्शन

NRMU-Protest

लुधियाना, 19 जुलाई (राज कुमार शर्मा)। भारतीय रेलवे की तरफ से पत्रकारों, सीनियर सिटीजन, हैंडीकैप्ट, डेली पैसेंजर पास होल्डर, विद्यार्थियों के लिए दी जानी वाली सुविधाओं पर रेलवे निजीकरण की आर्ड मे भारत सरकार की तरफ से दी जाने वाली सभी सुविधाओं पर ग्रहण लगा दिया गया है।

पहले कोविड-19 के चलते यह सारी सुविधाएं बंद पड़ी थी। परंतु जब इस संबंध मे जब रेलवे के एक सीनियर अधिकारी ने नाम न छापे जाने के चलते ये खुलासा करते कहा की जब से सरकार ने रेलवे को निजी हाथों मे देने का निर्णय लिया है। तब से इस मौजूदा सरकार ने हर किसी वर्ग को परेशान करने का ठेका ले लिया है। और निजीकरण की आर्ड मे रेलवे कर्मचारियों से लेकर देश की आम जनता को भी परेशान किया जा रहा है। उसी क्रम में रेलवे में निजीकरण का काम जोरों शोरों पर करने के लिए रेलवे में आए दिनों कोई ना कोई कार्य ऑफिसरो दोबारा किया जा रहा है। रेलवे में बिना गार्ड के गुड्स ट्रेन चलाने का जो निर्णय सीनियर डी ओ एम ने लिया है।

उसी का विरोध करने के लिए आज फिर एनआरएमयू ने सीनियर डी ओ एम के विरोध में नारेबाजी करके रेलवे को प्राइवेट हाथों में जाने का विरोध किया। इस अवसर पर एन आर एम यू के कामरेड अशोक कुमार एक्स मेन ब्रांच सेक्रेटरी, कामरेड राजेश्वर, कामरेड अशोक लोको ब्रांच, कामरेड प्रखर वर्मा, कामरेड दर्शन कामरेड संदीप राणा, कामरेड गुरुदेव कामरेड घरचा कामरेड जोगेश राणा, कामरेड आर के सूद, कामरेड प्रवीण कुमार, कामरेड धरमराज धर्मा, कामरेड अमृत और कामरेड गौरव शर्मा अपने साथियों के साथ उपस्थित रहे।