Pamela Drugs Case: पामेला गोस्वामी से पूछताछ के बाद पुलिस ने एक और BJP नेता को भेजा नोटिस

Webvarta Desk: ड्रग्‍स की तस्‍करी मामले (Pamela Drugs Case) में बीजेपी युवा मोर्चा की नेता पामेला गोस्‍वामी (Pamela Goswami) की ग‍िरफ्तारी बाद कोलकाता पुलिस (Kolkata) ने बीजेपी नेता राकेश सिंह (Rakesh Singh) को मंगलवार शाम 4 बजे पूछताछ के लिए बुलाया है। पुलिस ने गोस्‍वामी और उनके सहयोगी प्रबीर कुमार डे को कार में 90 ग्राम कोकीन रखने के आरोप में अरेस्‍ट किया है।

पामेला (Pamela Goswami) सफाई दे रही हैं कि उन्‍हें षडयंत्र के तहत फंसाया गया है। जेसीपी क्राइम मुरलीधर शर्मा (Murlidhar Sharma) ने जानकारी दी कि गुप्‍तचर विभाग इस मामले (Pamela Drugs Case) को देख रहा है। पामेला और सह आरोपी प्रबीर कुमार डे का आरोप है कि पुलिस के अलावा कोई और ऐसा शख्‍स है जिसने फंसाने के लिए उनकी कार और सैलून में कोकीन रखी थी।

आखिर कौन था वह रहस्‍यमय शख्‍स

पुलिस का कहना है कि वह उस शख्‍स की पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं जिसके बारे में गोस्‍वामी और डे का दावा है कि न्‍यू अलीपुर इलाके में उनकी गिरफ्तारी से पहले वह उनकी कार में मौजूद था। सूत्रों का कहना है क‍ि सोमवार को पुलिस ने न्‍यू टाउन सैलून की सीसीटीवी फुटेज देखी। इस आधार पर लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा।

जब्‍त की गई कोकीन ऐसी जैसी डीलर रखते हैं

पुलिसवालों का कहना है कि जब्‍त की गई कोकीन को देखकर लग रहा है कि यह उस रूप में है जैसी ड्रग डीलर रखते हैं। हम फरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। इसके अलावा गोस्‍वामी और डे के कॉल रिकॉर्ड भी खंगाले गए हैं।

‘दम नहीं पुलिस के दावों में’

गोस्‍वामी के वकील ने पुलिस के दावों को नकारते हुए कहा है कि पुलिस की थ्‍योरी फेल हो जाएगी क्‍योंकि उसके पास सबूत नहीं हैं। पुलिस को बताना है कि उसने किराए की टैक्‍सी के ड्राइवर से पूछताछ क्‍यों नहीं की। किसी भी नए व्‍यक्ति को कैसे पता चल सकता है कि किराए की कार में कोकीन कहां छिपी हुई है।

वकील ने बताया कि उन्‍होंने स्‍थानीय अदालत में सोमवार को अर्जी दाखिल की है ताकि उनके क्‍लाइंट से दो वकील मिल सकें। अर्जी स्‍वीकार कर ली गई है और मंगलवार को एक महिला वकील गोस्‍वामी से मिलेगी।

पुलिस के खिलाफ केस करेंगे राकेश सिंह

दूसरी तरफ, बीजेपी नेता राकेश सिंह ने रविवार को कहा है कि अगर गोस्‍वामी में पुलिस कस्‍टडी के दौरान उनका नाम लिया तो वह कोलकाता पुलिस के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेंगे।