Rajasthan News : हनुमानगढ़ में दलित युवक के मर्डर केस में 4 आरोपी गिरफ्तार, अवैध संबंध की वजह से हुई थी जगदीश की हत्या

हाइलाइट्स

  • हनुमानगढ़ में दलित युवक की हत्या के मामले में 4 आरोपी गिरफ्तार
  • अवैध संबंध की वजह से हुई थी युवक जगदीश की हत्या
  • अन्य आरोपियों की तलाश में दबिश दे रही है पुलिस

रामस्वरूप लामरोड़,जयपुर
हनुमानगढ़ जिले के सूरजगढ़ क्षेत्र में दलित युवक जगदीश मेघवाल से बेरहमी से मारपीट कर हत्या के मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों ने हत्या के बाद शव को पीलीबंगा के प्रेमपुरा गांव में उसके घर के आगे फेंक दिया था। रविवार को थाना पीलीबंगा पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर नामजद चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही एक नाबालिग को कस्टडी में लिया है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें जगह जगह दबिश दे रही है।

महानिदेशक पुलिस एम. एल. लाठर ने बताया कि इस मामले में अब तक कुल 4 नामजद आरोपी मुकेश कुमार पुत्र हेत राम ओड, दलीप पुत्र हेत राम व सिकन्दर पुत्र कालु राम निवासी प्रेमपुरा थाना पीलीबंगा और हंसराज पुत्र काशी राम निवासी सरदारपुरा को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि पीड़ित परिवार को शीघ्र न्याय दिलाया जाएगा। मृतक जगदीश के परिवार को अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार नियम के तहत 4 लाख 12 हजार 500 रुपये की आर्थिक सहायता कलेक्टर की ओर से स्वीकृत की जा चुकी है।

‘राहुल-प्रियंका कब जाएंगे हनुमानगढ़’, बीजेपी के बाद अब BSP सुप्रीमो मायावती ने साधा कांग्रेस नेतृत्व पर निशाना

अवैध संबंधों के कारण हुई जगदीश की हत्या
अतिरिक्त महानिदेशक डॉ रवि प्रकाश ने बताया कि प्रेमपुरा निवासी मृतक जगदीश पुत्र बनवारी लाल मेघवाल और आरोपी मुकेश ओड एक दूसरे के पड़ौसी है। मुकेश की पत्नी सुमन का मृतक जगदीश के साथ पिछले 4 साल से प्रेम प्रसंग को लेकर दोनों परिवारों में कई बार पंचायत भी हुई। मनमुटाव होने पर सुमन अपने पीहर चली गई और मुकेश के खिलाफ थाना सदर सूरतगढ़ में मुकदमा दर्ज करवा दिया। दोनों परिवारों के बीच पंचायत में आपसी राजीनामा होने से दोनों अलग अलग हो गए। इधर मृतक जगदीश की पत्नी मंजू ने भी मनमुटाव के चलते जगदीश के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करवाया था, जिसमें कोर्ट में चालान में पेश किया जा चुका है।

हनुमानगढ़ मामले में बढ़ रही राजनीतिक ‘रार’, पुलिस जांच तेज अब तक 3 लोग हिरासत में

पिटाई के बाद युवक को उसके घर के आगे फेंक गए थे आरोपी
मेहरड़ा के मुताबिक, अलग होने के बाद मुकेश की पत्नी सुमन पिछले दो साल से सुरतगढ में किराए का मकान लेकर बच्चों सहित रह रही है। जहां सुमन के जगदीश से मिलने की बात आरोपी मुकेश कुमार एवं उसके परिवार वालों को पता चलने पर घटना के दिन 7 अक्टूबर को वे सूरतगढ़ में सुमन के किराए के मकान में पहुंचे। उस वक्त वहीं मौजूद जगदीश को पकड़ लिया गया और उसका अपहरण करके सूरतगढ़ स्थित फॉर्म में ले गए। वहां आरोपीयों ने जगदीश के साथ लाठियों से मारपीट की। गम्भीर रूप से घायल कर मोटर साइकिल पर बैठा कर प्रेमपुरा में उसके घर के आगे पटक कर चले गये। परिजनों ने सम्भाला तक तक जगदीश की मौत हो चुकी थी।

हनुमानगढ़: पार्षद ने खुद नहीं लगाया मास्क, साधुओं को दी नसीहत, की उनकी डंड़े से पिटाई

पुलिस ने बिना देर किए मामला दर्ज किया: एडीजी
एडीजी डॉ रविप्रकाश ने बताया कि जानकारी मिलते ही, यह ना देखते हुए कि मामला कौन से इलाके का है, पीलीबंगा पुलिस ने तुरन्त हत्या, अपहरण व धारा 3 एससी एसटी में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तलाश में पीलीबंगा एवं सूरतगढ़ थाना क्षेत्र में टीमें भेज कर मुख्य आरोपी मुकेश कुमार को तुरन्त राउण्ड अप कर लिया था। जांच रावतसर के डिप्टी एसपी रणवीर सिंह मीणा की ओर से किया जा रहा है।

Arrested

सांकेतिक तस्वीर