Maharashtra Politics: ऊर्जा मंत्री के जन्मदिन पर बिजली सब्सिडी का तोहफा!

मुंबई
विदर्भ, मराठवाडा और पिछड़े जिलों के उद्योगों को दी जा रही सब्सिडी की दूसरी किस्त ऊर्जा मंत्री नितिन राउत के जन्मदिन से ऐन पहले जारी कर दी गई। इससे पहले 3 महीने के लिए सब्सिडी पर रोक लगा दी गई थी कि इसमें घोटाला है। सब्सिडी का फायदा सभी उद्योगों को देने के लिए 7 सदस्यीय समिति गठित की गई, जिसकी रिपोर्ट 15 अक्टूबर तक आएगी, लेकिन इससे पहले ही ऊर्जा मंत्री ने जन्मदिन का तोहफा उद्योगपतियों को दिया है।

बता दें कि एक तरफ महाराष्ट्र का बिजली विभाग बड़े आर्थिक संकट से गुजर रहा है। बिजली बिलों का बकाया 73,000 करोड़ रुपये को पार कर गया है, जिसे महावितरण वसूल नहीं पा रहा है। सबसे बड़े बकाएदार किसान हैं। घोटाला सामने आने के बाद ऊर्जा मंत्री ने सब्सिडी तत्काल रोक दी और खुद 7 सदस्यीय समिति गठित की।

‘बदहाली के लिए सरकार जिम्मेदार’
सब्सिडी घोटाला सामने लाने वाले ऐड. विनोद सिंह ने आरोप लगाया कि राज्य का उर्जा विभाग ही बदहाली के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार है। इस विभाग में इतने घोटाले हैं, जिसे रोककर बिजली विभाग फायदे में नहीं, तो नो प्रॉफिट-नो लॉस में तो आ ही सकता है। फिर से सब्सिडी शुरू करने को लेकर वेस्टर्न महाराष्ट्र स्टील मैन्युफैक्चरिंग असोसिएशन ने मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री, उर्जा मंत्री सहित विभाग के सचिवों को पत्र लिखकर नाराजगी व्यक्त की। विनोद सिंह ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।