हनुमानगढ़ मामले में बढ़ रही राजनीतिक ‘रार’, पुलिस जांच तेज अब तक 3 लोग हिरासत में

हाइलाइट्स

  • राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले में दलित युवक की पीट- पीटकर हत्या
  • मामले ने पकड़ा तूल, बीजेपी कर रही है कांग्रेस की घेराबंदी
  • बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी खोला कांग्रेस हाईकमान के खिलाफ मोर्चा

हनुमानगढ़ / जयपुर
राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले के पीलीबंगा में हुई दलित युवक की हत्या का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। एक ओर जहां इस मामले में राजनीति तेज होती दिखाई दे रही है। वहीं पुलिस- प्रशासन पर भी इस मामले में त्वरित कार्यवाही का दबाव बढ़ता जा रहा है। इधर बीजेपी के नेताओं की ओर से लगातार सीएम गहलोत और कांग्रेस हाईकमान को घेरने की कोशिश की जा रही है। आपको बता दें कि घटना के बाद जहां नई दिल्ली में बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रदेश की घटना पर राहुल – प्रियंका को घेरा। वहीं अब राजस्थान में भी बीजेपी की ओर से सीएम गहलोत और कांग्रेस पार्टी की घेराबंदी की जा रही है।

navbharat times‘राहुल-प्रियंका कब जाएंगे हनुमानगढ़’, बीजेपी के बाद अब BSP सुप्रीमो मायावती ने साधा कांग्रेस नेतृत्व पर निशाना

सतीश पूनियां ने ट्वीट कर कहा – राहुल- प्रियंका को दलितों- वंचितों की सुध लेने आना चाहिए
उल्लेखनीय है कि राजस्थान बीजेपी भी लगातार प्रदेश सरकार को हनुमानगढ़ मामले में घेरने में लगी हुई है। बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष पूनियां ने जहां इस संबंध में ट्विटर पर एक वीडियो जारी करके अपना बयान साझा किया था। वहीं आज फिर उन्होंने अपने एक ट्वीट के जरिए लिखा है कि प्रियंका गांधी और राहुल गांधी को दलित व वंचितों की सुध लेने राजस्थान आना चाहिए ।

poonia tweets

राजेंद्र राठौड़ ने कहा , राजस्थान दलित अत्याचार में तीसरे पायदान पर
इसी तरह उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने सोशल मीडिया पर लिखा कि इस घटना से गहलोत सरकार की लचर कानून व्यवस्था का एक और निर्मम चेहरा सामने आया है। दलित युवक की हत्या से स्पष्ट है कि राजस्थान में कानून व्यवस्था की स्थिति दिन-प्रतिदिन भयावह और सरकार के नियंत्रण से बाहर हो रही है। राठौड़ ने नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) 2020 के नवीनतम आंकड़ों का हवाला देते यह भी कहा कि दलितों के खिलाफ अपराधों में राजस्थान देश में तीसरे पायदान पर है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, जयपुर ग्रामीण सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड भी राज्य सरकार इस मामले में निशाना साध चुके हैं।

navbharat timesराजस्थान उपचुनाव : उम्मीदवारों को झटका!, निर्वाचन आयोग ने घटाया चुनाव प्रचार का समय, जानिए क्या है कारण
मायावती ने भी उठाए कांग्रेस हाईकमान पर सवाल
उल्लेखनीय है कि जहां बीजेपी इस मामले में कांग्रेस को घेरने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। वहीं इस मामले को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी मोर्चा खोल दिया है। बसपा अध्यक्ष मायावती ने घटना को निंदा करते हुए कांग्रेस आलाकमान को घेरा है। मायावती ने कहा है कि राजस्थान के हनुमानगढ़ में दलित की पीट-पीटकर की गई हत्या काफी दुखद और निंदनीय है। मायावती ने कहा है कि हनुमानगढ़ की इस घटना को लेकर कांग्रेस हाईकमान चुप क्यों है?। मायावती ने आगे सवाल किया है कि क्या छत्तीसगढ़ और पंजाब के मुख्यमंत्री वहां जाकर अब पीड़ित परिवार को 50-50 लाख रुपये की मदद देंगे?।

अभी तक तीन लोग हिरासत में
उल्लेखनीय है कि पीलीबंगा में दलित युवक की पीट पीटकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने इस संबंध में फिलहाल यही जानकारी दी है। पीलीबंगा थानाधिकारी इंदर कुमार ने बताया कि इस संबंध में मुकेश, ओमप्रकाश और हंसराज सहित तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है और अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिये पुलिस की दो टीमें गठित की गई हैं। वहीं उपखंड अधिकारी रंजीत कुमार ने शनिवार को मृतक जगदीश के परिजनों से मुलाकात की। परिजनों ने सभी आरोपियों की गिरफ्तारी, निष्पक्ष जांच और परिवार को मुआवजा समेत अन्य मांगें उनके सामने रखीं।

navbharat timesजयपुर पुलिस का ऑपरेशन ‘गैंगस्टर क्लीन बोल्ड’: 341 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी, 145 बदमाशों को किया गिरफ्तार
यह है घटना
आपको बता दें कि यह घटना हनुमानगढ़ जिले के पीलीबंगा ( प्रेमपुरा) में सात अक्टूबर को घटित हुई थी। यहां दर्जन भर लोगों ने जगदीश नामक शख्स को लाठियों से तब तक पीटा , जब तक उसकी मौत नहीं हो गई। प्रथमदृष्टया मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है।