34.1 C
New Delhi
Sunday, October 2, 2022

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई जल एवं स्वच्छता समिति की बैठक

भागलपुर, 23 सितंबर (प्रवीण कुमार)। जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन की अध्यक्षता में जिला जल एवं स्वच्छता समिति बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में विभिन्न मुद्दों के संदर्भ में विस्तृत चर्चा की गई एवं यथोचित दिशा निर्देश दिए गए। सर्वप्रथम वित्तीय वर्ष 2022-23 हेतु 80 ग्राम पचायतो की कार्य योजना का अनुमोदन दिया गया। इसके अंतर्गत पंचायतो में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन का कार्य किया जाएगा जिसके तहत घर घर कूड़ेदान का वितरण किया जाएगा।

लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान अंतर्गत गोबरधन योजना के संचालन हेतु प्रखंड गोराडीह के ग्राम पंचायत बिशुनपुर जीछो का चयन किया गया है। स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) द्वारा निर्गत दिशा निर्देश के आलोक में इस योजना अंतर्गत बायोगैस संयंत्र स्थापित किया जाना है। योजना क्रियान्वयन के फलस्वरूप ग्रामों को स्वच्छ एवं आत्मनिर्भर बनाने में मदद मिलेगी। चयनित स्थल पर योजना का सम्यक क्रियान्वयन विभाग स्तर से चयनित एजेंसी द्वारा किया जाएगा। प्लास्टिक अपशिष्ट पर्यावरण के लिए गंभीर समस्या के रूप में उभरा है।

तदनुसार प्लास्टिक अपशिष्ट का स्थानीय स्तर पर समुचित प्रबंधन आवश्यक है।समुदाय को प्लास्टिक अपशिष्ट से होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक करते हुए इसके उपयोग में कमी लाने,पुनरुपयोग तथा रिसाइकल हेतु जागृत करना सम्योचित है, ताकि प्लास्टिक अपशिष्ट का समुचित प्रबंधन समुदाय के व्यवहार का अभिन्न हिस्सा बन सके। भारत सरकार द्वारा 01 जुलाई 2022 से एकल उपयोग प्लास्टिक वस्तुओ के उत्पादन, बिक्री एवं उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है। निदेश अनुपालन हेतु सतत कारवाई की जा रही है। लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के द्वितीय चरण में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के अंतर्गत प्लास्टिक अपशिष्ट का समुचित प्रबंधन एक प्रमुख अवयव है। इसके अंतर्गत सभी प्रखंड में एक इकाई प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन इकाई स्थापित किया जाना है।

वर्तमान में उक्त योजना अंतर्गत चार प्रखंड यथा:गोराडीह, जगदीशपुर, नारायणपुर एवं पिरपैती में कार्य प्रारंभ किया जाना है। जिलाधिकारी ने उक्त बिंदु समीक्षा क्रम में वर्तमान में चयनित प्रखंडों में उक्त वर्णित कार्य शीघ्र पूर्ण करने हेतु आवश्यक कारवाई का निर्देश दिया है। बैठक में वित्तीय वर्ष:2021-22 में समेकित रूप से चयनित 65 ग्राम पंचायतों में निर्माणधीन अपशिष्ट प्रसंक्रण इकाई की अद्यतन स्थिति के संबंध में विस्तृत चर्चा की गई।

निर्देश दिया गया की इस माह के अंत तक सभी प्रखंडों में न्यूनतम एक अपशिष्ट प्रसंकरण इकाई का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाए एवं 15 नवंबर तक सभी इकाई का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाए। बैठक में वित्तीय वर्ष 2022-23 हेतु आज अनुमोदित 80 कार्य योजना के सभी ग्राम पंचायतों में अपशिष्ट प्रसंकरण इकाई का निर्माण इस वर्ष के अंत तक पूर्ण किए जाने हेतु यथोचित कारवाई का निर्देश दिया गया। बैठक में उप विकास आयुक्त सहित अन्य संबंधित उपस्थित थे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,124FollowersFollow

Latest Articles