25.1 C
New Delhi
Monday, October 3, 2022

Uddhav Thackeray: दशहरा रैली के लिए शिवाजी पार्क नहीं मिला तो, मुंबई की किन जगहों पर शिवसेना की नजर

मुंबई, (वेब वार्ता)। प्रतिष्ठित शिवाजी पार्क (Shivaji Park) में दशहरा रैली के लिए उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) और एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) गुट आमने-सामने है। दोनों ही तरफ से इस मैदान में दशहरा रैली (Dussehra Rally) करने के लिए बीएमसी (BMC) से इजाजत मांगी गई थी, जिसे बीएमसी ने ठुकरा दिया है। फ़िलहाल दोनों ही पक्ष बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) में इजाजत के लिए जंग लड़ रहे हैं।

कोर्ट आज इस मुद्दे पर सुनवाई करने वाला है। दोनों ही तरफ से शिवाजी पार्क के अलावा मुंबई के बीकेसी मैदान में भी दशहरा रैली करने की अनुमति एमएमआरडीए (MMRDA) से मांगी गई थी। जिस पर अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ है। ऐसे में शिवसेना की स्थापना से लेकर अब तक शिवाजी पार्क में दशहरा रैली करता आया ठाकरे परिवार क्या किसी दूसरे विकल्प पर भी गौर फरमा रहा है। आखिर उनका प्लान भी क्या है? शिवसेना (Shivsena) को इस बात का पता है कि अदालत का फैसला उसके हक और खिलाफ दोनों में आ सकता है। ऐसे में पार्टी ने प्लान-बी भी तैयार किया है। ताकि कई दशकों से होती आ रही दशहरा रैली की परंपरा को कायम रखा जा सके।

क्या है शिवसेना का प्लान- बी?
सूत्रों के मुताबिक, शिवसेना की तरफ से जो प्लान-बी तैयार किया गया है। उसके अनुसार शिवाजी पार्क में अगर दशहरा रैली की इजाजत नहीं मिल पाती है। तब शिवसेना मुंबई के महालक्ष्मी रेस कोर्स, सेना भवन, गिरगांव चौपाटी समेत कुछ अन्य विकल्पों पर विचार कर रही है। इस संबंध में शिवसेना की तरफ से इन जगहों की छानबीन भी शुरू है। विधानसभा चुनाव के दौरान शिवसेना और बीजेपी का गठबंधन टूटने के बाद उद्धव ठाकरे ने पहली बार महालक्ष्मी रेस कोर्स पर सभा जनसभा का आयोजन किया था। ऐसे में दशहरा रैली भी महालक्ष्मी रेस कोर्स में होने के काफी आसार हैं। बता दे कि भारतीय कामगार सेना की स्थापना भी गिरगांव चौपाटी की सभा मे हुई थी। इस जगह पर भी दशहरा रैली का आयोजन किया जा सकता क्या? इस पर विचार- विमर्श शुरू है।

हाई कोर्ट की सुनवाई पर टिकी सबकी निगाहें
शिवाजी पार्क में दशहरा रैली को लेकर उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे गुट की तरफ से बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है। आज इस मुद्दे पर उच्च न्यायालय सुनवाई करेगा। ऐसे में दोनों ही पक्ष के नेताओं और कार्यकर्ताओं समेत पूरे महाराष्ट्र की निगाहें हाई कोर्ट पर टिकी हुई हैं। इस बात की संभावना जताई जा रही है की अदालत आज इस मुद्दे पर कोई फैसला सुना सकता है। दोनों पक्षों की दलीलों के बाद अदालत क्या फैसला सुनाती है। यह देखना दिलचस्प होगा। बात दें कि शिवसेना साल 1966 से शिवाजी पार्क में दशहरा रैली का आयोजन करती आई है।

गाड़ी पर खड़े होकर दशहरा रैली?
शिवसेना पहले यह कह रही थी कि अगर उन्हें शिवाजी पार्क में दशहरा रैली के आयोजन की अनुमति नहीं मिली तो वह उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे। हालांकि, अब यह मामला अदालत की चौखट तक आ चुका है। ऐसे में अगर अदालत से भी शिवसेना को राहत नहीं मिली, तब भी शिवसेना शिवाजी पार्क में इस रैली का आयोजन करेगी। उद्धव ठाकरे ने हाल में कहा है कि किसी भी कीमत पर दशहरा रैली को शिवाजी पार्क में ही आयोजित किया जाएगा। हालांकि, शिवसेना के कुछ नेता यह भी कह रहे हैं कि गाड़ी के बोनट पर खड़े होकर बालासाहेब ठाकरे की तरह उद्धव ठाकरे भी दशहरा रैली को संबोधित कर सकते हैं। फिलहाल शिवसेना की तरफ से अन्य मैदानों के विकल्प पर भी विचार किया जा रहा है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,124FollowersFollow

Latest Articles