13.1 C
New Delhi
Thursday, December 1, 2022

Mominpur Violence: अब NIA करेगी मोमिनपुर हिंसा मामले की जांच , गृह मंत्रालय ने दी अनुमति

कोलकाता (वेब वार्ता)।महामगर के इकबालपुर और मोमिनपुर में हुई हिंसा मामले की जांच अब NIA करेगी।कलकत्ता हाईकोर्ट के निर्देश के बाद गृह मंत्रालय ने हिंसा मामले में की जांच एनआईए को सौंप दी है। दरअसल गत 9 अक्टूबर को लक्ष्मी पूजा के दिन कोलकाता के मोमिनपुर में सामुदायिक हिंसा हुई थी। इस हिंसा में एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर ईंट पत्थर चलाए। वहां भयंकर बमबारी की गई और कुछ छोटी-छोटी गुमटियों में आग लगा दी थी। दहशत का हाल यह था कि लोग अपने घर को छोड़कर भाग गए थे। इसी घटना पर कलकत्ता कोर्ट ने सवाल उठाए थे कि जब बमबाजी हुई तो एनआईए की धारा क्यों नहीं लगाई गई। घटना की रिपोर्ट देखने के बाद गृह मंत्रालय ने NIA जांच के आदेश दिए।

हिरासत में लेकर आरोपियों से होगी पूछताछ

मोमिनपुर हिंसा मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी कि जल्द ही मामले की जांच होगी। एनआईए कोलकाता पुलिस की ओर से गिरफ्तार किए गए लोगों की हिरासत की मांग करेगी। इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की भी जांच की जाएगी। एनआईए के अधिकारी मौके पर जांच के लिए जा सकते हैं। इस घटना के समय कोलकाता पुलिस ने इकबालपुर में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए 16 अक्टूबर तक धारा-144 लागू के तहत निषेधाज्ञा लागू की थी। मोमिनपुर हिंसा मामले में अब तक 45 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

राज्यसभा सांसद स्वपन दासगुप्ता ने पीएम को लिखी चिट्ठी
मोमिनपुर हिंसा की घटना को लेकर बीजेपी के वरिष्ठ नेता स्वपन दासगुप्ता ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चिट्ठी लिखी थी। दासगुप्ता ने केन्द्र सरकार से इस मामले पर कार्रवाई करने की अपील की थी। इस मामले में स्वपन दासगुप्ता से पहले सुवेंदु अधिकारी ने भी चिट्ठी लिखकर इलाके में सेंट्रल फोर्स तैनात करने की मांग की थी।

क्या हुआ था मोमिनपुर में
कोलकाता के मोमिनपुर में शरद पूर्णिमा की रात लक्ष्मी पूजा मनाई जा रही थी। इसके साथ ही मिलाद-उल-नबी का भी त्यौहार था। तथाकथित रूप से वहीं एक झंडा लगने को लेकर दो पक्षों में हिंसा हुई। सड़कों पर खड़ी बाईकें तोड़ दी गई। इसके साथ ही उपद्रवियों ने कुछ छोटी-छोटी गुमटियां जला डाली। हिंसा से डर के मारे लोग अपने घर छोड़कर चले गए। इलाके में ईंट पत्थर चले। बाद में लोगों ने जाकर इकबालपुर थाने में तोड़फोड़ की शिकायत की। स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिस ने हिंसा करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं की है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,121FollowersFollow

Latest Articles