13.1 C
New Delhi
Thursday, December 1, 2022

Bihar Politics: जगदानंद सिंह की नाराजगी रंग लाई, ‘ग्रामीण बुजुर्ग’ बताने वाले JDU नेताओं की बोलती बंद, जानें

पटना : बिहार में राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह की नाराजगी की चर्चा अभी भी जोरों पर है। इसी बीच एक ऐसी खबर आई है, जो बता रही है कि जगदानंद सिंह की नाराजगी का साइड इफेक्ट सहयोगी पार्टी जेडीयू पर दिखने लगा है। जगदानंद सिंह जहां एक तरफ अपने बेटे और पूर्व कृषि मंत्री सुधाकर सिंह के इस्तीफे को लेकर नाराज थे। वहीं, दूसरी ओर वे जेडीयू नेताओं की अपने प्रति की गई बयानबाजी से खफा थे।

बेटे के इस्तीफे के बाद जगदानंद थे नाराज
सूबे की सियासत में हाल में एक शब्द की चर्चा जोरों पर थी, ‘नेतृत्व’ । इसे लेकर राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह से लेकर विधायक भाई वीरेंद्र ने बड़े बयान दिये थे। जगदानंद सिंह ने तेजस्वी यादव को भावी सीएम बताया था। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को दिल्ली की सियासत संभालने की बात कहते हुए तेजस्वी को बिहार का नेतृत्व संभालने की बात कही थी। ठीक यही बात भाई वीरेंद्र ने भी कही थी। उसके बाद जेडीयू नेता और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव उपेंद्र कुशवाहा की प्रतिक्रिया आई थी। उपेंद्र कुशवाहा ने कहा था कि जगदानंद सिंह ग्रामीण बुजुर्ग की तरह हैं। जो जल्द से जल्द बेटे बेटियों की शादी निपटाने में विश्वास रखते हैं।

जेडीयू नेताओं के बयान से हुए आहत
एक तरह से इशारों-इशारों में उपेंद्र कुशवाहा ने जगदानंद सिंह को उनकी ‘उम्र’ हो जाने की बात कही थी। जिस उम्र में बुजुर्ग मानसिक रूप से समझ नहीं पाते हैं कि क्या बोलना है ? क्या नहीं बोलना है। उपेंद्र कुशवाहा के इस बयान से जगदानंद सिंह काफी उदास हो गए थे। उसके बाद उन्होंने कार्यालय आना बंद कर दिया था। फिर, तेजस्वी के आदेश से ‘नेतृत्व’ को लेकर बयान नहीं देने का पत्र जारी किया। जगदानंद सिंह ने उसके बाद राजद कार्यालय आना बंद कर दिया। अपने कागजात भी कार्यालय से उठाकर लेते गए। फिर क्या था, राजद में सियासी हलचल तेज हो गई कि जगदानंद सिंह अपना इस्तीफा लालू को सौंपने जा रहे हैं।

अब, जब तेजस्वी यादव ने बयान दिया है कि जगदानंद सिंह नाराज नहीं हैं। उस पर अपनी प्रतिक्रिया देने और जगदानंद पर कुछ बोलने से जेडीयू के नेता बच रहे हैं। कहा जा रहा है कि ये जगदानंद सिंह की नाराजगी का असर है कि जेडीयू नेताओं की बोलती बंद हो गई है। जगदानंद सिंह के बारे में जब मीडिया ने उपेंद्र कुशवाहा से पूछा, तो उन्होंने कहा कि ये आरजेडी का अंदरूनी मामला है। जगदानंद सिंह को लेकर कुछ भी बोलना सही नहीं है। किसी भी पार्टी के अंदरूनी मामले में बोलने का कोई मतलब नहीं है।

हालांकि, राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह को लेकर सस्पेंस बना हुआ है। दिल्ली में आरजेडी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में उनके नहीं जाने को लेकर कई तरह के कयास लग रहे हैं। पिछले दो-तीन दिनों से चर्चा हो रही थी कि जगदानंद सिंह दिल्ली जाकर लालू प्रसाद यादव को इस्तीफा सौंपेंगे। लेकिन, फिलहाल जगदानंद सिंह अपने गांव में ही हैं। उधर, उनके बेटे और पूर्व कृषि मंत्री सुधाकर सिंह दिल्ली पहुंच गए हैं। उन्होंने हाल में अपने पद से इस्तीफा दिया है। आज से आरजेडी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हो रही है। इसमें जगदानंद सिंह शामिल होते हैं या नहीं इस पर सबकी नजरें हैं। इस अधिवेशन में पार्टी के तमाम दिग्गज मौजूद होंगे। हालांकि, प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह को लेकर अभी भी संशय बरकरार है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,121FollowersFollow

Latest Articles