पुजारी का विरोध- ‘सैनिटाइजर में अल्कोहल होता है, मंदिरों में इसका प्रयोग नहीं होने दूंगा’

New Delhi: अनलॉक 1 में एमपी में 8 जून से धार्मिक स्थल खुलेंगे। इसे लेकर सभी धर्म स्थलों पर तैयारी शुरू हो गई है। धार्मिक स्थल खोले जाने से पहले सरकार ने गाइडलाइन भी जारी किए हैं।

गाइडलाइन के अनुसार मंदिरों के प्रमुख द्वार पर सैनिटाइजर मशीन लगी हो। प्रवेश से पहले लोग हाथ सैनिटाइज कर मंदिर के अंदर प्रवेश करें। इसे लेकर भोपाल मंदिर के पुजारी ने विरोध (Priest Aganist Sanitizer) किया है। मंदिर के पुजारी ने कहा है कि सैनिटाइजर में अल्कोहल होता है।

दरअसल, धार्मिक स्थलों के लिए केंद्र सरकार की गाइडलाइन पर भोपाल मां वैष्णवधाम नव दुर्गा मंदिर के पुजारी (Priest Aganist Sanitizer) ने कहा है कि शासन का कार्य है, गाइडलाइन जारी करना लेकिन मैं मंदिरों में सैनिटाइजर मशीन के विरोध में हूं। पुजारी ने कहा कि सैनिटाइजर में अल्कोहल होता है।

मंदिरों में शराब पीकर नहीं जाते

मंदिर के पुजारी चंद्रशेखर तिवारी ने कहा कि हम शराब पीकर जब मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकते हैं तो अल्कोहल से हाथ सैनिटाइज करके कैसे घुस सकते हैं। आप हाथ धोने की मशीन सभी मंदिरों के बाहर लगाइए, वहां पर साबुन रखिए, उसको हम स्वीकार करते हैं। पुजारी ने कहा कि वैसे भी मंदिर में तो व्यक्ति घर से नहा कर ही प्रवेश करता है।

गौरतलब है कि 8 जून से प्रदेश के सभी मंदिर, मस्जिद समेत अन्य धार्मिक स्थल खुलेंगे। सराकर ने धार्मिक स्थल खोलने से पहले गाइडलाइन जारी किया है, जिसमें मंदिरों की व्यवस्था में कई तरह के परिवर्तन के निर्देश दिए गए हैं। अब मंदिरों में घंटा नहीं होंगे। क्योंकि मंदिर पूजा के लिए आने वाले लोग घंटा बजाते थे। इसके साथ ही पूजा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *