6 मार्च को जेल भरो आंदोलन में भाग लेंगी महिलाएं

सोनीपत, 11 फरवरी (राजेश आहूजा)। सीटू के जिला प्रधान आनंद शर्मा व आशा वर्कर यूनियन की जिला कोषाध्यक्ष सुनीता ने कहा कि 6 मार्च को परियोजना वर्कर व कामकाजी महिलाएं राष्ट्रीय सीटू के आवाहन पर जेल भरो आंदोलन में भाग लेंगी। वे सीएमऔ कार्यालय पर दूसरे दिन में प्रवेश धरने को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि परियोजना वर्करों में आशा डे मील, आंगनवाड़ी वर्कर हेल्पर, क्रैच वर्कर हेल्पर और अलग-अलग कार्य स्थलों पर काम करने वाली कामकाजी महिलाएं जेल भरो में शामिल होंगीं। उन्होंने यह भी दावा किया कि जहां जिलों में हजारों की संख्या में जेल भरेंगे, वही हरियाणा में लाखों कामकाजी महिलाएं जेल भरो में शामिल होंगी और पूरे देश में एक करोड़ से ज्यादा अकेली परियोजना वर्करों की संख्या जेल भरो आंदोलन में होगी।

उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र व राज्य सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का न केवल नारा दे रही हैं। ढिंढोरा पीटकर प्रचार-प्रसार पर करोड़ों रुपए खर्च कर रहे हैं। परंतु महिलाओं की कोई सामाजिक सुरक्षा नहीं है और ना ही सम्मानजनक वेतन दिए जाते हैं। उन्होंने कहा कि नाम मात्र मानदेय में 24-24 घंटे महिलाओं से काम लिया जाता है, आए दिन घर से लेकर कार्यस्थल तक कोई सामाजिक सुरक्षा नहीं है।

खुद भाजपा के नेता भी महिलाओं से रेप के मामलों में शामिल मिले हैं। इन हालातों में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा बेईमाना साबित हो रहा है। बोलने में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा जितना अच्छा लगता है लेकिन व्यवहार में लागू नहीं किया जा रहा है। जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

उन्होंने मांग की कि बकाया मानदेय एवं इंसेटिव का तुरंत भुगतान किया जाए, वर्ष 2018 से बकाया एरियर भूगतान किया जाए, बदले की भावना से आशाओं को परेशान ना किया जाए, परियोजना वर्करों एवं कामकाजी महिलाओं की सामाजिक सुरक्षा की गारंटी दी जाए, कार्य स्थलों पर महिला ग्रीवेंस कमेटी के गठन किए जाएं तथा उसमें यूनियन की महिला प्रतिनिधियों को शामिल किया जाए,कार्य स्थलों पर महिलाओं के अलग वास रूम की व्यवस्था हो, न्यूनतम वेतन लागू किया जाए, परियोजना वर्करों एवं कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए, तब तक न्यूनतम वेतन 21000 रुपए घोषित किया जाए, वेतन एवं मानदेय हर माह की 7 तारीख से पहले अदायगी की जाए।

धरने की अध्यक्षता उप प्रधान पूनम ने की। पूनम शीमा सविता मलिक, कवीता शर्मा, छवी, मीनू, सुदेश एंव जनवादी महिला समिति की नेता सुरजावती ने भी धरने को संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *