केंद्र सरकार के भरोसे दिल्ली में कोरोना से जंग लड़ेंगे अरविंद केजरीवाल

New Delhi: मार्च में पहला केस आने के बाद से करीब साढ़े तीन महीने में दिल्ली में कोरोना के केस 38 हजार के पार पहुंच गए हैं। कोरोना के खिलाफ मुश्किल जंग में दिल्ली को केंद्र का साथ मिला है।

रविवार को गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal Corona) से मीटिंग की। बैठक में दिल्ली में कोरोना के खिलाफ युद्ध स्तर की तैयारी का फैसला किया गया। केंद्र ने राज्य सरकार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

कोरोना के केस जैसे-जैसे बढ़ रहे हैं वैसे-वैसे अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal Corona) सरकार पर महामारी से ठीक ने नहीं निपट पाने के आरोप लग रहे हैं। महाराष्ट्र (1 लाख से ऊपर केस) के बाद राजधानी दिल्ली की ही हालत सबसे ज्यादा खराब है। मीटिंग में दिल्ली सरकार को केंद्र की तरफ से कई भरोसे मिले हैं। मीटिंग के बाद अरविंद केजरीवाल ने कहा भी कि अब दिल्ली कोरोना की जंग केंद्र के साथ मिलकर लड़ेगी।

इससे पहले तक कोरोना काल में केंद्र सरकार और राज्य सरकार कई मुद्दों पर आमने सामने आई। दिल्ली सरकार चाहती थी कि दिल्ली में सिर्फ दिल्लीवालों का इलाज हो, लेकिन उपराज्यपाल अनिल बैजल ने उनका फैसला पलट दिया।

इससे पहले दिल्ली सरकार ने कहा था कि केंद्र सरकार की तरफ से उन्हें कोई फंड नहीं मिला है जबकि टैस्ट सबसे ज्यादा दिल्ली देती है। तब डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा केंद्र से 5 हजार करोड़ की मदद मांगी थी। इससे पहले दिल्ली सरकार ने केंद्र के हॉस्पिटल राम मनोहर लोहिया पर कोरोना की गलत और देरी से रिपोर्ट देने तक के आरोप लगाए थे।

केंद्र की तरफ से दिल्ली को मिले क्या भरोसे
  • दिल्ली में कोरोना टेस्टिंग के रेट तय किए जाएंगे
  • 2 दिन में दोगुनी टेस्टिंग, 6 दिन बाद तीन गुना टेस्टिंग
  • प्राइवेट हॉस्पिटल में 60 प्रतिशत बेड सरकार लेगी
  • 500 रेलवे कोच दिल्ली को दिए जाएंगे, इसमें कोरोना के इलाज की सुविधा होगी
  • कंटेनमेंट जोन के हर पोलिंग बूथ पर कोरोना टेस्टिंग होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *