Thursday, March 4, 2021
Home > State Varta > बड़ी खबर: पन्ना के तहसीलदार उमेश तिवारी एक लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

बड़ी खबर: पन्ना के तहसीलदार उमेश तिवारी एक लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

पन्ना, वेबवार्ता (एमएस खान): मध्य प्रदेश का जिला पन्ना भले ही पिछड़े जिले में शुमार होता हो लेकिन यहाँ पर व्याप्त भ्रष्टाचार के मामले में प्रदेश के अन्य जिले पीछे हैं। सरकारी महकमों में चल रहे भ्रष्टाचार ने एक बार फिर पन्ना के नाम को उजागर किया है।

पन्ना जिला अंतर्गत तहसील अजयगढ़ में तहसीलदार उमेश तिवारी रूपए की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों पकडे गए हैं। जिले के बड़े अधिकारी द्वारा जिस तरह से नियम कानून को दरकिनार करते हुये भ्रष्टाचार का खेल खेला जा रहा है इससे समूचे प्रशासन पर सवालिया निशान खड़े होना स्वाभाविक हैं।

आज सुबह सागर लोकायुक्त की टीम ने अजयगढ़ तहसीलदार उमेश तिवारी को एक लाख रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा गया जिले भर के प्रशासनिक अमले में सनसनी फ़ैल गई। बताते चलें कि पन्ना जिला अंतर्गत तहसील गुनौर के तहसीलदार भी भ्रष्टाचार के चलते लोकायुक्त द्वारा धरे जा चुके हैं।

क्या है मामला

तहसील अजयगढ़ में भवन की स्वीकृति के एवज में तहसीलदार उमेश तिवारी द्वारा एक लाख रूपए की मांग की जा रही थी। फरयादी द्वारा लोकायुक्त में शिकायत कर पूरे मामले स अवगत कराया गया और सागर लोकायुक्त ने भ्रष्ट अधिकारी को रंगे हाथों पकड़ने के लिए पूरी तैयारी करते हुये सुबह अजयगढ़ रेस्ट हाउस से रिश्वतखोर तहसीलदार को रेंज हाथों दर दबोचा, इसके बाद तहसीलदार को लोकायुक्त की टीम अजयगढ़ थाने लेकर गई जहाँ विभिन्न धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया।

आवेदक अंकित मिश्रा पिता राजकुमार मिश्रा 25 वर्ष निवास वार्ड क्र 14 अजयगढ जिला पन्ना के चाचा के प्लाट में भवन की स्वीकृति के बदले तहसीलदार द्वारा एक लाख रिश्वत की मांग की गयी थी दिनांक 20/1/21 को आवेदक ने आरोपी तहसीलदार उमेश तिवारी उम्र 29 वर्ष प्रभारी तहसीलदार अजयगढ़ को घटना स्थल रेस्ट हाउस अजयगढ़ रुम नं 3 से एक लाख रुपयों सहित पकड़ लिया। लोकायुक्त की कार्रवाई में ट्रेपकर्ता उपुअ राजेश खेड़े के नेतृत्व में प्रकरण को अंजाम दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *