MP: ग्वालियर से गोडसे यात्रा निकालने पर अड़ी हिंदू महासभा, प्रशासन ने नहीं दी मंजूरी

Webvarta Desk: हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) ग्वालियर से दिल्ली तक गोडसे यात्रा (Godse Yatra) निकालने पर अड़ी है, लेकिन प्रशासन ने इसकी अनुमति नहीं है। इसे लेकर ग्वालियर के दौलतगंज में हिंदू महासभा के नेताओं ने एक आपत बैठक बुलाई थी।

हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) ने साफ कर दिया है कि हम गोडसे यात्रा (Godse Yatra) निकालेंगे। गांधी जी के हत्यारे को हिंदू महासभा के नेताओं ने सबसे बड़ा विद्वान बताया है।

हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) के नेताओं ने कहा कि गोडसे के विचारों को फैलाने के लिए हर हाल में यात्रा निकाली जाएगी। इस यात्रा में अलग-अलग प्रांतों से निकलकर हिंदू महासभा के कार्यकर्ता दिल्ली पहुंचेंगे। वहीं, बैठक मे शामिल होने गुजरात से आये हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष देवेंद्र पांडेय ने बाबूलाल चौरसिया के कांग्रेस में शामिल होने पर कहा कि वह हिंदुत्व का देश लेकर कांग्रेस में गया है, इसलिए अब राहुल और प्रियंका गांधी को कांग्रेस चलाने का अधिकार नहीं है।

कांग्रेस पर हमला करते हुए हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) के नेता ने कहा कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी क्षमा मांगकर हिंदू महासभा में शामिल हो जाएं। साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने देश का विभाजन किया था, जिसके लिए कांग्रेस को कभी माफ नहीं किया जा सकता है। हिंदू महासभा अपना अभियान इसी तरह से जारी रखेगी। इस दौरान गांधी जी के हत्यारे गोडसे को लेकर हिंदू महासभा के कार्यकर्ताओं नें गीत भी गया और गोडसे के सपने को पूरा करने की शपथ भी ली है।

गौरतलब है कि कुछ महीने पहले ग्वालियर में हिंदू महासभा ने गोडसे ज्ञानशाला की शुरुआत की थी। विवाद के बाद इसे बंद करना पड़ा था। अब फिर से गोडसे भक्त ग्वालियर में सक्रिय हो गए हैं।