video of police barbarity at guna in mp

Video: MP में दलित किसान पर पुलिस की बर्बरता, बचाने आई पत्नी के फाड़े कपड़े, दंपति ने पीया जहर

New Delhi: एमपी के गुना जिले में दलित किसान पर पुलिस की बर्बरता (Police ki Barbarta) ने एक किसान दंपति को कीटनाशक पीने पर मजबूर कर दिया।

जमीन से अवैध कब्जा हटाने पहुंची पुलिस से किसान ने फसल कट जाने तक रुकने के लिए कहा। पुलिस नहीं मानी तो उन्होंने खेत में ही कीटनाशक पी लिया। पुलिस का कहना है कि वह दोनों को इलाज के लिए अस्पताल लेकर जाने लगी तो किसान के भाई ने एक महिला पुलिसकर्मी को धक्का दे दिया। इसके बाद पुलिस ने पहले तो किसान को पीट-पीट कर बेसुध कर दिया। उसे बचाने आई पत्नी और बच्चों को भी नहीं छोड़ा। महिला के कपड़े तक फाड़ डाले।

पुलिस की बर्बरता का वीडियो वायरल (Video of Police Barbarity in MP) होने के बाद पूर्व सीएम कमलनाथ और दिग्विजय सिंह ने प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार पर निशाना साधा। बुधवार रात सीएम ने गुना के एसपी और कलेक्टर को हटाने के आदेश दिए जबकि गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उच्चस्तरीय जांच का ऐलान कर दिया।

मामला गुना जिले में कैंट थाने के जगनपुर चक्र (Jaganpur Chakra in Guna of MP) का है जहां मंगलवार को राजस्व विभाग और पुलिस की टीम जमीन से अवैध कब्जा हटाने गई थी। इस जमीन को किसान राजकुमार ने बटाई पर ले रखा है। यह जमीन एक कॉलेज के लिए आवंटित है और पुलिस पहले भी एक बार इसे अवैध कब्जे से मुक्त करा चुकी है। मंगलवार को जब सरकारी अमला मौके पर पहुंचा तो किसान ने फसल कट जाने तक कार्रवाई रोकने की अपील की। पुलिस नहीं मानी और खेत में जेसीबी चला दिया।

पुलिस की कार्रवाई से आहत किसान दंपति ने खेत में ही कीटनाशक पी लिय़ा। दोनों को बेसुध होते देख पुलिस अधिकारियों के हाथ-पांव फूलने लगे। पति-पत्नी को एंबुलेंस में लादकर अस्पताल लाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है।अस्पताल ले जाते समय पुलिस की किसान परिवार से झड़प भी हुई। पुलिस का कहना है कि राजकुमार के भाई ने एक महिला पुलिसकर्मी को धक्का दिया था। इसके बाद पुलिस ने उनके साथ ऐसा सलूक किया जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है।

पुलिसकर्मियों ने राजकुमार के भाई को बेरहमी से पीटा। उसकी तब तक पिटाई की जब तक कि वह बेसुध नहीं हो गया। पति को बचाने पत्नी आई तो उसे भी नहीं छोड़ा। पत्नी के कपड़े तक फाड़ डाले। बताया जा रहा है कि पुलिसकर्मियों ने बच्चों तक को नहीं बख्शा। मां-बाप की हालत देखकर बच्चे बिलख रहे थे, लेकिन पुलिसकर्मियों को दया नहीं आई।

बुधवार को मारपीट का वीडियो वायरल होने के बाद प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार लगातार विरोधियों के निशाने पर है। सबसे पहले पूर्व सीएम कमलनाथ ने वीडियो शेयर कर प्रदेश में जंगलराज होने का आरोप लगाया।

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी ट्वीट कर मामले पर आक्रोश जताया। बुधवार रात सीएम शिवराज सिंह चौहान ने तत्काल कार्रवाई करते हुए गुना के कलेक्टर और एसपी को हटाने का आदेश जारी किया। वहीं, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने घटना की उच्चस्तरीय जांच का ऐलान करते हुए कहा कि दोषियों को किसी हालत में छोड़ा नहीं जाएगा।

जानकारी के मुताबिक किसान परिवार ने सरकारी अमले से आग्रह किया था कि फसल कट जाने तक कार्रवाई रोक दी जाए। किसान ने कर्ज ले रखा है और वह फसल बेचकर इसे चुकाना चाहता था। वहीं, सरकारी अमले का कहना है कि जमीन मॉडल कॉलेज के लिए आवंटित है, लेकिन इस पर भूमाफिया ने कब्जा कर रखा है। जमीन को पहले भी अवैध कब्जे से छुड़ाया गया था, लेकिन कॉलेज का निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ तो अतिक्रमण दोबारा हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *