Manohar Lal

लव जेहाद और धर्मांतरण के खिलाफ नया कानून लाएगी हरियाणा सरकार, CM मनोहर लाल ने किया ऐलान

चंडीगढ़। हरियाणा का मेवात (नूंह) सालों से धर्मांतरण और लव जेहाद की घटनाओं को लेकर चर्चा में रहा है। यहां हिंदुओं पर अत्याचार रोकने के लिए हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सीएम मनोहर लाल खट्टर ने ऐलान किया है कि इसी साल मानसून सत्र में धर्मांतरण विरोधी कानून लाया जाएगा।

दरअसल, विश्व हिंदू परिषद के एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल के मुलाकात करने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नूंह जिले का दौरा किया। इस दौरान सीएम ने करीब आधा दर्जन ऐसी घोषणाएं की, जिन्हें विहिप नेता मेवात के हिंदुओं को अत्याचार से मुक्ति का बड़ा रास्ता मान रहे हैं। धर्मांतरण व लव जेहाद रोकने के लिए धर्मांतरण विरोधी कानून बनाने का ऐलान सीएम की सबसे बड़ी घोषणा है, जिससे मेवात के हिंदुओं में खासा उत्साह बना हुआ है।

नया सवेरा लेकर आया सीएम का मेवात दौरा

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेंद्र जैन और राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल का मेवात दौरा और उनके द्वारा की गई घोषणाएं स्वागत योग्य हैं, जिनके अमल में आने के बाद अल्पसंख्यक हिंदू समाज को इस्लामिक जिहादियों के अत्याचारों व आतंक से मुक्ति मिल सकेगी।

उन्होंने कहा, करीब एक पखवाड़े पहले विहिप नेताओं ने चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उन्हें वह रिपोर्ट सौंपी थी, जिसमें कहा गया था कि दलित, पिछड़े और कमजोर वर्ग के हिंदू समाज का जबरन धर्मांतरण कराया जा रहा है। यह काम वहां सुनियोजित तरीके से हो रहा है, जिसकी उच्च स्तरीय जांच की जरूरत है।

विहिप ने सौंपी थी मुख्यमंत्री को रिपोर्ट

मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर आए विहिप नेताओं को जल्द ही इस संबंध में उचित कार्यवाही का भरोसा दिया था। मुख्यमंत्री मंगलवार को नूंह जिले में पहुंचे और वहां अधिकारियों से पूरी रिपोर्ट लेकर आधा दर्जन घोषणाएं की।

विहिप के केंद्रीय संयुक्त महामंत्री डा. सुरेंद्र जैन के अनुसार मुख्यमंत्री की इन घोषणाओं पर शीघ्रातिशीघ्र अमल होने से पीडि़त समाज संतोष का अनुभव कर सकेगा। मेवात में धर्मांतरण, लव जेहाद और गोकुशी पर रोक के अलावा यहां के अल्पसंख्यक हिंदुओं की धार्मिक व सार्वजनिक संपत्तियों की सुरक्षा तथा आईआरबी की बटालियन की स्थापना ऐसे कदम हैं, जिन्हें मेवात की आजादी की घोषणा से जोड़कर देखा जाना चाहिए।

लॉकडाउन में बढ़े अत्याचार

विहिप के केंद्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल के अनुसार हरियाणा के मेवात में दशकों से हिंदुओं पर हो रहे अत्याचारों में लॉकडाउन के दौरान अभूतपूर्व वृद्धि हो गई थी। संपूर्ण देश के हिंदू समाज ने हिंदुओं की पीड़ा को दूर करने में एक प्रतिबद्धता दिखाई। इसका परिणाम अब मुख्यमंत्री द्वारा कड़े फैसले लेने के रूप में निकला है। जन भावनाओं का सम्मान करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल नूंह पहुंचे और हिंदू समाज की पीड़ा को सुना व समझा। उन्होंने हिंदू समाज की लंबे समय से लंबित मांगों को स्वीकार करते हुए कई अहम घोषणाएं की।

सीएम की 5 महत्वपूर्ण घोषणाएं

  1. धर्मांतरण व लव जेहाद रोकने के लिए धर्मांतरण विरोधी कानून बनेगा, जिसे इसी मानसून सत्र में पेश किया जाएगा।
  2. गोकशी के मामलों को फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुना जाएगा। दोषियों को कड़ी सजा दिलवाने के लिए यदि आवश्यकता होगी तो वर्तमान कानून में आवश्यक संशोधन होंगे।
  3. नूंह में आईआरबी की बटालियन स्थापित की जाएगी, जिससे मेवात में कानून का राज्य पुन: स्थापित करने में सहायता मिल सकेगी।
  4. हिंदुओं की धार्मिक व सार्वजनिक संपतियों पर से कब्जा हटाकर उनके लिए एक बोर्ड बनाया जाएगा जो इन संपत्तियों की देखभाल व सुरक्षा सुनिश्चित करेगा।
  5. हिंदुओं की संपति पर कब्जे हटवाने के लिए धर्मादा बोर्ड का गठन होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *