Ranchi Rims

पोस्टमार्टम के लिए लाया गया ‘मृत व्यक्ति’ हो गया जिंदा, और फिर…

New Delhi: झारखंड के रांची में एक हैरान करने वाला माममा सामने आया है। बिजली का करंट लगने से मरने वाले एक व्यक्ति के भाई ने दावा किया है कि मंगलवार को जब उसके भाई का शव पोस्टमार्टम के लिए रिम्स में लाया गया तो मृतक ‘जीवित हो गया था’।

मृतक व्यक्ति के परिवार वालों ने कहा कि जैसे भी उसे अस्पताल में भर्ती किया गय उसके थोड़ी देर बाद फिर उसकी मौत हो गई। डॉक्टरों ने मृतक के परिवारवालों ने कहा कि अगर समय पर यहां लाए होते को शायद उसे बचाया जा सकता था।

टेंट उखाड़ते समय 11 हजार वोल्ट की लाइन की चपेट में आया शख्स

दरअसल लोहरदगा जिले के खरता गांव की है। यहां के निवासी जितेंद्र उरांव गांव में ही लगाए गए टेंट को खोल रहे थे, तभी ऊपर से गुजर रही 11 हजार वोल्ट की लाइन के तार की चपेट में वह आ गया। जिससे जितेंद्र बुरी तरह झुलस गया।

घटना सुबह 7:30 बजे के आसपास की है। जैसे ही परिवारवालों को मामले की जानकारी मिली वो जितेंद्र को लेकर चान्हो ब्लॉक के एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लेकर आ गए। यहां डॉक्टरों ने उसे ‘मृत’ घोषित कर दिया और शव को चान्हो पुलिस को सौंप दिया। पुलिस शव को लेकर पोस्टमार्टम के लिए रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में ले आए।

पोस्टमार्टम के लिए ट्रॉली पर लिटाया तो चल रही थी धड़कन

मृतक के छोटे भाई सिकंदर भी पुलिस के साथ रिम्स पहुंचे। उन्होंने कहा, “हम सुबह 11 बजे सीएचसी से निकले और दोपहर 1 बजे रिम्स पहुंचे। जब भाई के शव को पोस्टमार्टम के लिए ट्रॉली पर लिटाया तो रिम्स के स्टाफ ने कहा कि ये जीवित है, इसकी धड़कन चल रही है। इसे अस्पताल के केंद्रीय आपातकालीन वार्ड में शिफ्ट कर दो। हालांकि, स्थानांतरित किए जाने के तुरंत बाद, इमरजेंसी वार्ड के डॉक्टरों ने कहा कि उनकी मृत्यु हो गई है। डॉक्टर ने कहा कि अगर युवक को थोड़ी देर पहले लाया जाता तो उसे बचाया जा सकता था।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *