हिंदू वोटरों को रिझाने के लिए ममता का खास प्लान, हर दुर्गा पूजा कमिटी को सरकार देगी 50 हजार

New Delhi: पश्चिम बंगाल (West Bengal) में चुनाव से पहले ममता बनर्जी सरकार (Mamata Banerjee Govt) ने हिंदू वोटरों को रिझाने के लिए एक और बड़ा ऐलान किया है।

नवरात्र से पहले ममता बनर्जी सरकार (Mamata Banerjee Govt) ने एक बड़ा ऐलान करते हुए पश्चिम बंगाल (West Bengal) की हर दुर्गा पूजा समिति (Durga Puja Committee) को सरकार की ओर से 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

राज्य में दुर्गा पूजा (Durga Puja) को यहां से प्रमुखतम त्योहार के रूप में जाना जाता है। ममता बनर्जी (Mamata Banerjee Govt) के इस ऐलान को हिंदू वोटरों को रिझाने की एक और कोशिश के रूप में देखा जा रहा है।

पश्चिम बंगाल (Durga Puja) में ममता बनर्जी सरकार (Mamata Banerjee Govt) ने पूर्व में पुजारियों के लिए भी विशेष मासिक भत्ते और मुफ्त आवास की योजना का ऐलान किया था। इसके अलावा उन्होंने चुनावी साल में कुछ और फैसले लेकर हिंदू वोटरों को रिझाने का प्रयास किया था।

माना जा रहा है कि 2019 के चुनाव के बाद हिंदू वोटर्स के बीच राजनीतिक प्रभाव स्थापित करने के लिए ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में कई घोषणाएं की थी।

राज्य की करीब 37 हजार दुर्गा पूजा (Durga Puja) समितियों के लिए कई तरह की राहत की घोषणा खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने की। उन्होंने कहा कि दमकल विभाग, कोलकाता नगर निगम, अन्य नगर निकाय और पंचायत अपनी सेवाओं के लिए पूजा समितियों से किसी तरह का कर या शुल्क वसूल नहीं करेंगी।

सेवा कर में भी पंडालों को छूट

ममता बनर्जी ने कहा कि ‘कोविड के चलते यह हम सभी के लिए कठिन समय रहा है। हमने राज्य की प्रत्येक दुर्गा समिति को पचास-पचास हजार रुपये उपलब्ध कराने का निर्णय किया है। हमने यह भी निर्णय किया है कि कलकत्ता विद्युत आपूर्ति निगम और राज्य विद्युत बोर्ड पूजा समितियों को 50 प्रतिशत छूट उपलब्ध कराएंगे।’

बनर्जी ने समितियों से कहा कि वे महामारी के मद्देनजर खुले पंडाल लगाने की तैयारी करें और सुनिश्चित करें कि पंडालों में लोग मास्क लगाकर आएं। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने राज्य के 75 हजार हॉकरों को दो-दो हजार रुपये की मदद देने की भी घोषणा की क्योंकि लॉकडाउन की वजह से उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा है।

बंगाल में सिर पर हैं चुनाव

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को अगले ही साल चुनाव में उतरना है। जिसमें चंद ही महीने बाकी हैं। ममता बनर्जी पर मुसलमानों के कट्टरपंथी तबकों के दबाव में काम करने का आरोप हमेशा लगता है। जिसे दूर करने के लिए ममता बनर्जी ने पूजा पंडालों को नकद पैसों की मदद देकर अपनी छवि थोड़ी हिंदू समर्थक बनाने की कोशिश की है।

बंगाल में इस बार भाजपा से तृणमूल कांग्रेस की कांटे की टक्कर है। जो लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के सहारे बंगाल की 42 में से 18 सीटें जीतने में कामयाब रही थी। भाजपा शुद्ध रुप से ममता की मजहबी तुष्टिकरण की नीति पर फोकस करके राजनीति कर रही है। भाजपा की मुहिम अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों के खिलाफ भी है।

भाजपा की हिंदू नीति की काट तलाश करने के लिए ही ममता बनर्जी ने पूरा पंडालों को मदद देने का ऐलान किया है। आखिर चुनाव जो नजदीक हैं। पश्चिम बंगाल की 294 विधानसभा सीटों के लिए साल 2021 में चुनाव होने वाले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *