MP Weather Update: मॉनसून की विदाई के साथ कम होने लगा तापमान, अब सर्दी दूर नहीं

भोपाल
MP Weather News : दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के मध्य प्रदेश से अगले दो-तीन दिनों में पूरी तरह से विदा (Monsoon Ends in MP) हो जाने की संभावना है। इसके साथ ही राज्य में सुबह के वक्त न्यूनतम तापमान में गिरावट शुरू हो गई है जो इस बात का संकेत है कि सर्दी का आगाज दूर नहीं है।

सामान्य तौर पर मॉनसून मध्य प्रदेश से 30 सितंबर के आस पास विदा होता है, लेकिन इस बार यह 10-12 दिन देर से जा रहा है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के भोपाल कार्यालय के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पीके साहा ने शनिवार को बताया कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून शनिवार को प्रदेश के बड़े हिस्से से हट गया है। इसके चलते पिछले दो-तीन दिनों में न्यूनतम तापमान (Minimum Temperature Reduces in MP) में एक से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है।

साहा ने बताया कि शनिवार सुबह भोपाल का न्यूनतम तापमान 21.6 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया जबकि पांच अक्टूबर को यह 24 डिग्री सेल्सियस था। शनिवार को इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में न्यूनतम तापमान क्रमश: 22.6, 20.4 और 21.9 तक गिर गया। शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे मंडला, छतरपुर के नौगांव और रायसेन जिले में न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

हालांकि, प्रदेश में अधिकतम या दिन के तापमान में बढ़ोतरी भी देखने को मिल रही है। आसमान साफ होने के कारण तापमान एक से दो डिग्री सेल्सियस तक बढ़ गया है। शनिवार शाम साढे पांच बजे ग्वालियर में अधिकतम तापमान 37.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

navbharat timesBhopal News: सात साल की बच्ची के सामने कपड़े उतार कर खड़ा हो गया 72 साल का बूढ़ा, मां की शिकायत पर हुआ गिरफ्तार
साहा ने कहा कि मॉनसून के अगले दो से तीन दिनों में मध्य प्रदेश से पूरी तरह से विदा होने की उम्मीद है। इस बार दक्षिण-पश्चिम मॉनसून अपने निर्धारित समय से सात दिन पहले 10 जून को मध्य प्रदेश पहुंच था और इसकी वापसी सामान्य से 11-12 दिन आगे निकल जाने की संभावना है।

navbharat timesBJP Star Campaigners List: उपचुनावों के लिए बीजेपी ने जारी की स्टार प्रचारकों की लिस्ट, 10वें नंबर बने हुए हैं सिंधिया
आईएमडी के एक अन्य वरिष्ठ मौसम विज्ञानी जी डी मिश्रा ने बताया कि राज्य मे इस साल मॉनसून से औसत से थोड़ी अधिक बारिश हुई है। एक जून से 30 सितंबर की सुबह तक राज्य में 940.6 मिलीमीटर की सामान्य बारिश के मुकाबले इस बार 945.2 मिमी बारिश हुई। प्रदेश के 11 जिलों में सामान्य से अधिक बारिश हुई जबकि नौ जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई।

‘हमें खाद नहीं मिल रही, लेकिन कालाबाजारी हो रही’- भिंड में भड़के किसानों ने एनएच पर किया चक्काजाम