32.1 C
New Delhi
Tuesday, September 27, 2022

Jabalpur: माता गौरी के नाम से जाना जाएगा अब ग्वारीघाट, डोर टू डोर कचरा कलेक्शन करने वाली एस्सेल कम्पनी का ठेका निरस्त…मेयर इन काउंसिल की पहली बैठक लिए गए कई निर्णय

महापौर श्री अन्नू ने बताया कि लीज नवीनीकरण और नामांत्रण के 104 प्रकरणों की स्वीकृति प्रदान करते हुए पुरवा के विभिन्न बस्तियों में लगभग 13 करोड़ रूपये की लागत से होने वाले विकास कार्यो की भी स्वीकृति दी गई है। उन्होंने जानकारी दी कि पूज्य स्वामी श्री गिरीशानंद जी महाराज और मध्यप्रदेश शासन के पूर्व वित्त मंत्री तरूण भनोत की पहल और प्रस्ताव पर मॉं नर्मदा एवं आदि शंकराचार्य जी की प्रतिमा स्थापित किये जाने की स्वीकृति प्रदान की गई।

इसी प्रकार पूर्व महापौर पं. स्व. श्री विश्वनाथ जी की प्रतिमा स्थापित की जाने संबंधी प्रस्ताव की भी मंजूरी दी गई। इसके अलावा ग्वारीघाट स्थित ई.टी.पी./एस.टी.पी. प्लांट एवं नर्मदा नदी में मिलने वाले समस्त नालों के संबंध में आगामी कार्य योजना तैयार कर क्रियान्वयन करने के संबंध में अधिकारियों को निर्देश बैठक में प्रदान किये गए।

महापौर ने बताया कि ग्वारीघाट अब माता गौरी के नाम से जाना जायेगा, इस संबंध के प्राप्त प्रस्ताव पर भी मेयर इन काउंसिल की बैठक में सहमति जताई गयी। नगर निगम के सभी 79 वार्डो में नेत्र परीक्षण शिविर का आयोजन किया जायेगा, इसके साथ-साथ आवारा सुअरों को पकड़ने तथा कार्यवाही संबंधी प्रस्ताव की भी आज मंजूरी प्रदान की गयी।

उन्होंने जानकारी दी कि शहर की सफाई व्यवस्था में गुणात्मक सुधार लाये जाने के लिए 35 सफाई संरक्षकों की संख्या में वृद्धि करते हुए 40 सफाई संरक्षकों की तैनाती करने संबंधी प्रस्ताव को भी स्वीकृत किया गया है। इसके अलावा उन्होंने विभिन्न मुख्य त्यौहारों पर शहर में विशेष रूप से साफ-सफाई अभियान संचालित हो इसके लिए भी अतिरिक्त श्रमिकों की तैनाती करने संबंधी प्रस्ताव की मंजूरी दी गई। मेयर इन काउंसिल की बैठक में  आम नागरिकों के लिए नगर निगम मुख्यालय तथा समस्त संभागीय कार्यालयों में वायफाई की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी तथा महापौर हेल्प लाइन की शुरूआत 2 अक्टूबर से करने की घोषणा संबंधी प्रस्ताव की मंजूरी दी गई।

मेयर इन काउंसिल की बैठक में आज पूज्य स्वामी गिरीशानंद जी महाराज और पूर्व वित्त मंत्री तरूण भनोत की पहल पर ग्वारीघाट रोड़ सुखसागर के सामने तीर्थ क्षेत्र का एक भव्य प्रवेश द्वार बनाए जाने संबंधी प्रस्ताव की भी स्वीकृति प्रदान की गयी। बैठक में नेत्रहीन छात्रावास के शेष बचे हुए कार्य को पूर्ण कराते हुए छात्रावास को एक माह के भीतर शिफ्ट किये जाने की कार्यवाही पर भी सहमति प्रदान की गयी।

समस्त अवैध कॉलोनियों को आवश्यक वैधानिक प्रक्रिया को पूर्ण करते हुए नियमित करने, प्रकाश विभाग के अंतर्गत टी.सी. कनेक्शनों को नियमित किये जाने, अमृत योजना फेस-1 में शहरवासियों को मॉं नर्मदा जल प्रदान करने हेतु निर्धारित राशियों को किस्तों में लेकर कनेक्शन प्रदान करने, नगर निगम जबलपुर द्वारा संचालित स्कूलों में 46 अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति तथा अधिकारियों कर्मचारियों को मंहगाई भत्ता 31 प्रतिशत मंहगाई भत्ते को बढ़ाकर 34 प्रतिशत करने, इसी प्रकार पेंशनर्स को भी 17 प्रतिशत से बढ़ाकर 22 प्रतिशत मंहगाई राहत प्रतिमाह प्रदान करने संबंधी प्राप्त प्रस्तावों की भी मंजूरी मेयर इन काउंसिल की बैठक में दी गई।

इसी प्रकार कायस्थ समाज द्वारा दिये गए पत्रानुसार स्थान का चयन कर चित्रगुप्त चौक किये जाने संबंधी प्रस्ताव, इसी प्रकार सिविल लाइन चौक का नाम सुभाषचंद्र बैनर्जी, के नाम पर नामकरण किये जाने संबंधी प्रस्ताव की स्वीकृति प्रदान की गयी। इसके अलावा हरियाली क्षेत्र में वृद्धि के अंतर्गत 79 वार्डो में 8 करोड़ रूपये की लागत से वनों का विस्तारीकरण तथा एक एक नए वन निर्माण करने संबंधी प्रस्ताव भी पारित किये गए।

सफाई कार्य हेतु श्रमिकों की पूर्ति ठेका प्रणाली से किये जाने हेतु समस्त 16 संभागों को 5 ग्रुप में विभाजित कर पृथक पृथक सम्पादित अनुबंध की समयावृद्धि किये जाने संबंधी प्रस्ताव की भी मंजूरी प्रदान की गयी। बैठक में मेयर इन काउंसिल के सदस्य शेखर सोनी, एकता गुप्ता, हेमलता सिंह सिंगरौल, अमरीश मिश्रा, जितेन्द्र सिंह ठाकुर, श्रीमती शगुफ्ता उस्मानी, गुलाम हुसैन, मनीष पटैल, दिनेश तामसेतवार एवं श्रीमती लक्ष्मी गोंटिया, निगमायुक्त आशीष वशिष्ठ, अपर आयुक्त महेश कुमार कोरी, आर.पी. मिश्रा, उपायुक्त मनोज श्रीवास्तव, पी.एन. सनखेरे के साथ-साथ समस्त सहायक आयुक्त, समस्त विभागीय प्रमुख सचिव के.सी. पाण्डे आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,125FollowersFollow

Latest Articles