27.1 C
New Delhi
Tuesday, September 27, 2022

Jabalpur: क्रिकेट के सट्टे का हिसाब करतेे 2 सटोरिये गिरफ्तार, फरार 4 सटोरिए गुरूमुख अहूजा, दया सिंधी, कमल खत्री ,कमल मलानी को सरगर्मी से तलाश रही पुलिस

वेब वार्ता, जबलपुर। क्रिकेट के सट्टे का हिसाब करतेे 2 सटोरियो को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वहीं फरार 4 सटोरिये गुरूमुख अहूजा, दया सिंधी, कमल खत्री ,कमल मलानी की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। आरोप है कि ये ऑन लाईन आई.डी. प्रोवाईड कर क्रिकेट का ऑन लाईन सट्टा खिलवाते थे।पुलिस छापेमारी कर 1 लैपटाप, 1 आईफोन, 1 मोबाईल एवं नगद 18 हजार 550 रूपये जप्त किया है। वहीं लैपटॉप एवं मोबाईल में लाखों का हिसाब मिलने के बाद गुरूमुख अहूजा का आफिस सील कर दिया गया है.

पुलिस कंट्रोल रूम प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि गुरमुख अहूजा अपने गुर्गों के माध्यम से क्रिकेट के सट्टे की ऑन लाईन आई.डी. प्रोवाईड कर क्रिकेट का सट्टा खिलवाता है। क्रिकेट के सट्टे से अवैध अर्जित रकम से करोड़ों की प्रापर्टी बना रखी है। सूचना की तस्दीक एवं कार्यवाही हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण संजय कुमार अग्रवाल, नगर पुलिस अधीक्षक गोरखपुर सुश्री प्रतिष्ठा राठौर के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी गोरखपुर एस.पी.एस. बघेल के नेतृत्व में टीम गठित कर लगायी गयी।

विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि गुरमुख अहूजा के लिये काम करने वाला बिट्टू चावला अपने घर के सामने इंदिरा स्कूल रोड में अपनी कार के पास खड़ा होकर क्रिकेट के सट्टे का मोबाइल में हिसाब किताब कर रहा है. सूचना पर मुखबिर के बताये स्थान पर दबिश दी गई जहां मुखबिर के बताये हुलिये का व्यक्ति मोबाइल लिये नीले रंग की कार के पास खड़ा दिखा। जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया। नाम पता पूछने पर अपना नाम अखिल उर्फ बिट्टू चावला उम्र 42 वर्ष निवासी इंद्रा स्कूल के पास गुप्तेश्वर बताया। जिसके पास मिले आईफोन मोबाइल को चैक करने क्रिकेट के सट्टे का लेन देन का हिसाब एवं सट्टे की राशि का आदान प्रदान फोन के माध्यम से किया जाना पाया गया।

आरोपी की तलाशी लेते हुये आरोपी के कब्जे से 16 हजार 200 रूपये एवं आईफोन मोबाइल जप्त कर सघन पूछताछ की गयी तो अखिल उर्फ ब्ट्टिू चावला ने क्रिकेट का सट्टा गुरूमुख अहूजा, कमल खत्री, दया सिंधी के कहने पर खिलाना जिसके बदले में तीनों के द्वारा कमीशन देना बताया। सटोरिये अखिल उर्फ बिट्टू चावला गुरूमुख अहूजा, कमल खत्री, दया सिंधी के विरूद्ध धारा 4 क सट्टा एक्ट एवं 109 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर फरार सटोरिये गुरूमुख अहूजा, कमल खत्री, दया सिंधी की तलाश जारी है।

इसी प्रकार विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि समीर पोपटानी गोरखपुर गुरूद्वारे के पीछे वाली रोड में अपने घर के नीचे लेपटॉप एवं मोबाइल में क्रिकेट के सट्टे का लेन देन का हिसाब कर रहा है सूचना पर मुखबिर के बताये स्थान पर दबिश दी गई जहंा पर मुखबिर के बताये हुलिये का व्यक्ति लेपटॉप लिये लेपटॉप में कुछ काम करते दिखा जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया नाम पता पूछने पर अपना नाम समीर पोपटानी उम्र 22 वर्ष निवासी गुरूद्वारा के पीछे गोरखपुर का बताया। जिसके कब्जे मे डेल कम्पनी का लेपटॉप एवं रेडमी कम्पनी का मोबाइल रखे हुये था।

मोबाइल एवं लेपटॉप को चैक करने पर दोनों में क्रिकेट के आनलाईन आईडी का लेन देन, क्रिकेट मैच का हिसाब किताब मोबाइल पर व्हाटसएप में एवं लेपटॅाप में क्रिकेट मैच का एक्सल सीट में रूपयों पैसों का अदान प्रदान एवं लेन देन का रिकार्ड होना पाया गया । आरोपी के कब्जे से लेपटॉप एवं मोबाइल तथा नगद 2 हजार 350 रूपये जप्त करते हुये सघन पूछताछ की गयी तो उक्त क्रिकेट के सट्टे का काम दया सिंधी , कमल खत्री , कमल मलानी के कहने पर करना बताते हुये बताया कि पूरे काम का लेखा जोखा तथा पूरा हिसाब किताब गुरूमुख अहूजा के पास रहता है।

गुरूमुख अहूजा के रामपुर चौक स्थित आफिस में जाकर दया सिंधी एवं कमल खत्री हिसाब किताब करते हैं। दया सिंधी एवं गुरूमुख अहूजा ने उसे काम करने के लिये लैेपटॉप एवं रेडमी कम्पनी का मोबाइल दिया है, उसे काम के बदले में ये लोग कमीशन के तौर पर 12 हजार रूपये महिना एवं खर्चा देते हैं। आरोपी समीर पोपटानी, गुरूमुख अहूजा, दया सिंधी, कमल खत्री ,कमल मलानी के विरूद्ध धारा 4 क सट्टा एक्ट एवं 109 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध करते हुये फरार गुरूमुख अहूजा, दया सिंधी, कमल खत्री ,कमल मलानी की सरगर्मी से तलाश जारी है।

उल्लेखनीय है कि गुरूमुख अहूजा का रामपुर चौक के पास पंजाब नेशनल बैंक के बाजू में एस.जी. स्क्वेयर अपार्टमेंट में यूनिफाईड वैब ऑप्शन के नाम से आफिस है। जिसे सील किया गया है। फरार गुरूमुख अहूजा, दया सिंधी, कमल खत्री ,कमल मलानी के पकड़े जाने पर पूरे नेटवर्क का खुलासा होगा। सटोरियों ने अपना एक ग्रुप बना रखा था ।जिसमें मैसेज डाला गया है कि सभी 10 दिनों के लिए बाहर भाग जाओ।

उल्लेखनीय भूमिका- क्रिकेट के सट्टे से जुडे सटोरियों को पकड़ने एवं नेटवर्क का खुलासा करने में थाना प्रभारी गोरखपुर श्री एस.पी.एस. बघेल के नेतृत्व में सहायक उप निरीक्षक संतोष पाण्डे, प्रधान आरक्षक दीपक मिश्रा, आरक्षक मोहित राजपूत, रत्नेश राय, दिनेश गुर्जर, निर्मल सनोडिया, महिला आरक्षक कंचन राजपूत की सराहनीय भूमिका रही।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,125FollowersFollow

Latest Articles