कुशीनगर में जिला प्रशासन ने कोविड नियंत्रण हेतु कमर कसी : जिलाधिकारी

District Magistrate

कुशीनगर, 11 मई (ममता तिवारी)। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के विकास भवन में स्थापित इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल कमांड में कोविड 19 के प्रभावी उपचार एवं रोकथाम हेतु समस्त नोडल अधिकारियों के साथ नियमित समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता जिलाधिकारी एस. राजलिंगम ने की।

बैठक के दौरान फोन लगातार बजती घंटियां, फोन को अटेंड करते अटेंडेंट, इन सब के बीच सभी कर्मचारियों एवं अधिकारियों को निर्देशित किये। एक व्यस्तता का माहौल होता है कोविड कमांड कंट्रोल रूम का। जिलाधिकारी के निर्देशन में जिला प्रशासन तथा कोविड ड्यूटीरत कर्मचारी एवं अधिकारी लगातार दिन-रात एक किए हुए हैं जिससे कोविड के बढ़ते संक्रमण को किसी तरीके से रोका जा सके।

जिलाधिकारी खुद भी कोविड से संक्रमित हुए लेकिन संक्रमण खत्म होने के बाद से लगातार कोविड संक्रमण से जनपद के लोगों को बचाने के लिए प्रयासरत हैं। सभी अधिकारियों से नियमित रिपोर्ट ली जा रही है। नए टास्क आवंटित किए जा रहे हैं। कोविड हेल्प लाइन नंबर स्थापित किए गए हैं कि हर तरह से इस महामारी से मुकाबला किया जा सके।

इस संदर्भ में आज की बैठक में भी नियमित कोविड समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी लिंगम ने सर्विलांस टीम के डॉक्टरों की सूची मांगी, होम आइसोलेशन के मरीजों की स्थिति का रिपोर्ट लिया, कोविड टीम के पास थर्मामीटर, दवा, पल्स ऑक्सीमीटर इत्यादि की उपलब्धता के बारे में जाना, कितने प्रवासियों का आगमन हुआ है, कंटेनमेंट जोन की क्या स्थिति है, कांटेक्ट ट्रेसिंग की स्थिति, ऑक्सीजन की स्थिति, कोविड हेल्पलाइन पर रोज कितनी शिकायतें आ रही हैं समाधान की दिशा में क्या किया जा रहा है इत्यादि बातों की जानकारी ली।

जिलाधिकारी ने कोविड ड्यूटी से अनुपस्थित रहने वाले स्टाफ, वार्ड बॉय, इत्यादि के नाम, मोबाइल नंबर, पता का पूरा विवरण मांगा, आर.आर. टीम को बढ़ाने का निर्देश दिया। कांटेक्ट ट्रेसिंग को बढ़ाए जाने हेतु निर्देशित किया निगरानी समिति के माध्यम से दवा वितरण हेतु निर्देश दिया। इस अवसर पर जिला अधिकारी एस० राजलिंगम के साथ-साथ मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती अनुज मलिक, अपर पुलिस अधीक्षक अयोध्या प्रसाद सिंह, प्रभारी अपर जिलाधिकारी रामकेश यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी नरेन्द्र गुप्ता समेत अन्य पदाधिकारी गण उपस्थित थे।