West bengal: पुलिस का दावा- ‘BJP नेता पामेला को ड्रग्‍स की लत’, पिता के बयान का दिया हवाला

Webvarta Desk: ड्रग्स मामले में गिरफ्तार बीजेपी की युवा शाखा की नेता पामेला गोस्वामी (BJP Leader Pamela Goswami) के पिता ने कोलकाता पुलिस (Kolkata Police) को बताया था कि उनकी बेटी को मादक पदार्थ की लत (Drug Addict) अपने एक मित्र के कारण लगी है और वह चाहते हैं कि उस पर निगरानी रखी जाए।

पुलिस (Kolkata Police) सूत्रों ने शनिवार को यह जानकारी दी। शहर पुलिस से जुड़े सूत्रों ने बताया कि गोस्वामी (BJP Leader Pamela Goswami) के साथ गिरफ्तार किए गए उनके मित्र प्रबीर कुमार डे कुछ वक्त से उनके साथ रह रहे थे। अदालत में पेशी के समय गोस्वामी ने पुलिस की पकड़ से छूटने की कोशिश की और चिल्ला कर कहा कि राकेश सिंह ने उनकी गिरफ्तारी की साजिश की है।

राकेश सिंह बीजेपी की पश्चिम बंगाल इकाई के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय के करीबी हैं। फैशन मॉडल रह चुकीं पामेला को 25 फरवरी तक के लिए पुलिस हिरासत में भेजा गया है। पामेला के थैले और कार में लाखों रुपये मूल्य का 90 ग्राम कोकीन कथित तौर पर पाए जाने के बाद उन्हें उनके मित्र डे और उनके (पामेला के) निजी सुरक्षा गार्ड को शुक्रवार को कोलकाता के न्यू अलीपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया था।

पामेला ने शहर की अदालत से लॉक-अप में ले जाए जाने के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘मैं सीआईडी जांच चाहती हूं। बीजेपी के राकेश सिंह, जो कैलाश विजयवर्गीय के सहयोगी हैं, को गिरफ्तार किया जाना चाहिए। यह (मेरे खिलाफ) एक साजिश है। मेरे पास सारे सबूत हैं।’

वहीं, राकेश सिंह ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और कोलकाता पुलिस ने गोस्वामी को उनके खिलाफ ‘ सिखा पढ़ा’ दिया है। उन्होंने कहा कि वह एक साल से अधिक समय से पामेला के संपर्क में नहीं थे और किसी भी जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं।

सिंह ने कहा, ‘यदि मैं संलिप्त हूं तो वे मुझे या कैलाश विजयवर्गीय या अमित शाह को बुला सकते हैं। मुझे लगता है कि पुलिस ने उसे सिखाया-पढ़ाया है। मैं डेढ़ से अधिक वर्ष से पामेला के संपर्क में नहीं हूं। ’ उन्होंने कहा,‘ यह संभव है कि कोलकाता पुलिस तृणमूल कांग्रेस के निर्देशों का पालन कर रही हो। वे मेरे खिलाफ साजिश रच रहे हैं। मेरे खिलाफ बेबुनियादी आरोप हैं और मैं किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हूं।’

इस बीच, तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि पूरा प्रकरण बीजेपी के असली चेहरे को दर्शाता है। पार्टी महासचिव और राज्य में मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा, ‘इससे पहले, उनकी (बीजेपी की) एक नेता बच्चों की तस्करी के मामले में गिरफ्तार हुई थीं। अब एक अन्य नेता ड्रग्स मामले में गिरफ्तार हुई हैं। इससे सिर्फ यही साबित होता है कि बीजेपी और उसके नेताओं का असली चेहरा क्या है।’

इसबीच, कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि उन्हें न्याय तंत्र पर भरोसा है और कानून अपना काम करेगा। उन्होंने कहा, ‘मुझे इस घटना के बारे में नहीं मालूम और इस लिए मैं इस पर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा। मुझे हमारे कनूनी तंत्र पर पूरा भरोसा है अगर कोई दोषी पाया जाता है तो कानून अपना काम करेगा।’

कोलकाता पुलिस ने कहा है कि गोस्वामी के पिता की ओर से पिछले वर्ष अप्रैल में शिकायत मिलने के बाद से वे गोस्वामी और उनके मित्र प्रबीर पर नजर रख रहे थे। कौशिक गोस्वामी ने शहर पुलिस को लिखे पत्र में कहा कि प्रबीर ने ही पामेला को मादक पदार्थों का आदी बनाया है। उनका आरोप है कि प्रबीर ने अपना वह वादा भी नहीं निभाया कि वह अपनी पत्नी को तलाक दे कर पामेला से विवाह करेगा। पत्र में प्रबीर की गतिविधियों पर भी नजर रखने की अपील की गई है।