Shalini Yadav

कानपुर में लव जिहाद गैंग का सच क्या? लव, धोखा फिर धर्म परिवर्तन

New Delhi: कानपुर में इन दिनों कथित लव जिहाद (Love Jihad in Kanpur) का मामला तूल पकड़ रहा है। विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जैसे हिंदूवादी संगठनों की ओर से विरोध की आवाज उठ रही है।

धर्म परिवर्तन के पांच मामले सामने आने के बाद आरोप लग रहे हैं कि शहर में एक संगठित गिरोह (Love Jihad in Kanpur) सक्रिय है। इस गिरोह के सदस्य अपनी पहचान छिपाकर सोशल मीडिया पर फेक आईडी बनाते हैं। यही नहीं दूसरे धर्म की लड़कियों को प्रेम जाल में फंसाकर उनका धर्म परिवर्तन कराने के बाद निकाह करते हैं। संगीन आ’रोपों से पुलिस भी हैरान है। इस मामले में अब आईजी ने एसआईटी का गठन किया है।

मिश्रित आबादी में धर्म परिवर्तन गैंग?

कानपुर की मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों जैसे लाल कॉलोनी, सफेद कॉलोनी, मछरिया,जाजमऊ, सैयद नगर, छावनी जैसे इलाकों में कथित गैंग (Love Jihad in Kanpur) सक्रिय बताया जाता है। शालिनी यादव से फिजा फातिमा बनी युवती की भी दोस्ती फैसल से फेसबुक के जरिए हुई थी। अब शालिनी ने धर्म परिवर्तन कर फैसल से निकाह कर लिया है। शालिनी यादव समेत पांच लड़कियों के धर्म परिवर्तन कर निकाह करने के मामले सामने आए हैं।

शालिनी यादव के परिवार समेत पांच लड़कियों के परिजनों ने बीते 24 अगस्त को आईजी रेंज से मुलाकात कर आपबीती सुनाई थी। परिजनों ने आ’रोप लगाया था कि हमारी लड़कियों का ब्रेनवॉश कर उनका धर्म परिवर्तन कराया गया है। हमारी बच्चियों को पुलिस बरामद करे और उनका कोर्ट में 164 के तहत बयान दर्ज कराए।

क्या है शालिनी यादव का मामला

बर्रा थाना क्षेत्र स्थित बर्रा 6 में रहने वाली शालिनी यादव और किदवई नगर थाना क्षेत्र के मोहम्मद फैसल से बीते 6 साल से प्रेम संबंध थे। शालिनी ने गाजियाबाद में धर्मांतरण कर फिजा फातिमा बनकर फैसल से निकाह कर लिया। शालिनी के परिजनों ने फैसल समेत 7 लोगों पर एफआईआर दर्ज कराई थी।

शालिनी ने वीडियो वायरल कर बताया था, ‘मैं अपने घर से 29 जून को कॉलेज के एग्जाम का बहाना कर लखनऊ के लिए निकली थी। लेकिन मैं अपने दोस्त मोहम्मद फैसल को 6 साल से जानती हूं। मैंने फैसल के साथ 2 जुलाई को गाजियाबाद से शादी की। मैंने अपनी मर्जी से और राजी-खुशी से, बिना किसी दबाव के अपना धर्मांतरण किया और निकाह किया है। इसके साथ ही साथ हमने कोर्ट मैरेज भी की है।’

सगी बहनों का मामला भी आया सामने

शालिनी यादव के अलावा कल्याणपुर में रहने वाली सगी बहनों का मामला भी प्रकाश में आया था। दोनों सगी बहनों का धर्म परिवर्तन कराने के बाद निकाह किया गया। परिजनों की शिकायत पर कल्याणपुर पुलिस ने रिपोर्ट तो दर्ज कर ली थी, लेकिन प्रेम प्रसंग का मामला बताकर किसी तरह की कार्रवाई नहीं की थी।

इसी तरह पनकी में रहने वाली दो सगी बहनों के नाम बदलकर और धार्मिक पहचान छिपाकर प्रेम जाल में फंसाया गया था। आरोप है कि उनका धर्म परिवर्तन कराने के बाद निकाह किया गया था। सबसे ज्यादा हैरानी की बात यह है कि पांचों लड़कियों का ब्रेनवॉश कर धर्म परिवर्तन कराने वाले लड़के एक ही कॉलोनी के रहने वाले हैं। इन पांचो लड़कियों के परिजनों का भी यही आरोप है कि शहर में लव जिहाद गिरोह सक्रिय है। यदि शहर भर के थानों से इस तरह के मामलों को निकलवाया जाए और इसकी जांच कराई जाए तो एक बड़े गैंग का खुलासा हो सकता है।

प्रेम प्रसंग बताकर पुलिस झाड़ लेती है पल्ला

वीएचपी, बजरंगदल और कथित लव जेहाद का शिकार हुई लड़कियों के परिजनों का आरोप है कि धर्म परिवर्तन कर निकाह करने का मामला प्रकाश में आता है तो स्थानीय थाने की पुलिस उदासीन रवैया अपनाती है। पुलिस इस तहर के मामलों को प्रेम प्रसंग बताकर कोई कार्रवाई नहीं करती है, जो उन्हें करना चाहिए। परिजन थानों के चक्कर लगाते रहते हैं। इन सबके बीच वे समाज और अपनों के बीच हंसी का पात्र बनते हैं।

आईजी ने गठित की है एसआईटी

आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने लव जिहाद के आ’रोपों को गंभीरता से लिया है। उन्होंने एसपी साउथ दीपक भूकर के नेतृत्व में एक एसआईटी का गठन किया है। एसआईटी पर धर्म परिवर्तन करने वाली लड़कियों को बरामद करने की भी जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके साथ ही वीएचपी और बजरंग दल का आरोप है कि शहर में एक संगठित गिरोह सक्रिय है, जो लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराता है। इसकी भी जांच एसआईटी करेगी। धर्मांतरण से संबंधित सभी बिंदुओ की जांच एसआईटी को सौंपी गई है।

पांच लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराने वाले रिश्तेदार

पुलिस की जांच में एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। सूत्रों के मुताबिक पुलिस की शुरुआती जांच में पांच लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराने वाले एक ही कॉलोनी के हैं। इसके साथ ही ये सभी आरोपी आपस में रिश्तेदार हैं। पांचों युवक सामान्य परिवार से आते हैं। परिवार के बाकी सदस्य घरों से फरार हैं और सिर्फ महिलाएं ही घरों पर हैं।

पहचान छिपाकर की थी दोस्ती

पड़ताल में पता चला है कि पनकी की दो बहनों से लड़कों ने पहचान छिपाकर दोस्ती की थी। परिजनों ने बताया, ‘इस घटना के संबंध में जब मैंने अपनी लड़कियों की सहेलियों से जानकारी जुटाई तो पता चला कि लड़कों ने अपना नाम बदलकर और धार्मिक पहचान छिपाकर दोस्ती की थी। जब लड़कियों को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया, उसके बाद उनका ब्रेनवॉश करके अपनी असली पहचान बताई थी।’ आरोप है कि बच्चियों पर धर्म परिवर्तन कराने का दबाव डालने के बाद निकाह किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *