Kalraj Mishra Writes to CM Ashok Gehlot

राज्यपाल कलराज मिश्र ने लिखी गहलोत को चिट्ठी, कहा- किसी CM से ऐसा बयान मैंने कभी नहीं सुना

New Delhi: Kalraj Mishra Writes to CM Ashok Gehlot: राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने सीएम अशोक गहलोत को पत्र लिखकर उनके राजभवन घेराव को लेकर दिए बयान पर आपत्ति जताई।

राज्यपाल ने कहा (Kalraj Mishra Writes to CM Ashok Gehlot) कि उन्होंने ऐसा बयान पहले किसी मुख्यमंत्री से नहीं सुना। उन्होंने मुख्यमंत्री को नसीहत दी कि दबाव की राजनीति नहीं होनी चाहिए।

राज्यपाल का जबर्दस्त पलटवार

राज्यपाल ने सीएम को लिखी अपनी चिट्ठी (Kalraj Mishra Writes to CM Ashok Gehlot) में कहा, ‘इससे पहले कि मैं विधानसभा सत्र के संबंध में विशेषज्ञों से चर्चा करता, आपने सार्वजनिक रूप से कहा कि यदि राजभवन घेराव होता है तो यह आपकी जिम्मेदारी नहीं है।’ राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा, ‘दवाब की राजनीति नहीं होनी चाहिए। संवैधानिक मर्यादा के ऊपर कोई नहीं है।’

अपने बयान से ही घिरे गहलोत

सीएम अशोक गहलोत को लिखी चिट्ठी में राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा, ‘अगर आप और आपका गृह मंत्रालय सरकार की रक्षा नहीं कर सकते हैं, तो राज्य में कानून और व्यवस्था के बारे में क्या होगा? राज्यपाल की सुरक्षा के लिए किस एजेंसी से संपर्क किया जाना चाहिए? मैंने कभी किसी सीएम का ऐसा बयान नहीं सुना।’ राज्यपाल ने गहलोत से पूछा, ‘क्या यह एक गलत प्रवृत्ति की शुरुआत नहीं है, जहां विधायक राजभवन में विरोध करते हैं?’

क्या कहा था सीएम गहलोत ने?

सीएम को कलराज मिश्र ने यह चिट्ठी उनके आज की बयान को भेजी है। सीएम गहलोत ने कहा था कि हमने कल (गुरुवार को) राज्यपाल महोदय को पत्र भेजकर निवेदन किया था कि विधानसभा का सत्र बुलाया जाए और उसमें राजनीतिक हालात, कोरोना पर चर्चा हो लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया है। हमारा मानना है कि ऊपर से दबाव के कारण मजबूरी में वो विधानसभा बुलाने के निर्देश नहीं दे रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि जनता ने राजभवन का घेराव किया तो हमारी जिम्मेदारी नहीं।

सुरजेवाला का केंद्र पर निशाना

उधर, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बीजेपी और केंद्र सरकार पर फिर से निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के षड्यंत्रकारी हथकंडों ने राजस्थान की 8 करोड़ जनता के स्वाभिमान को चुनौती दी है।

उन्होंने दावा किया कि बीजेपी चाहे कितने भी हथकंडे अपना ले, ईडी-सीबीआई किसी का दुरुपयोग कर ले लेकिन दिल्ली की सत्ता में बैठे मदमस्त हुक्मरान राजस्थान की जनता के जनमत की हत्या की चाहे जितनी कोशिश कर लें, वे कभी कामयाब नहीं होंगे क्योंकि ये राजस्थान की 8 करोड़ की जनता का स्वाभिमान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *