CM शिवराज के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया का ऑडियो क्लिप, 50 लाख रुपये जिक्र

New Delhi: एमपी की राजनीति में ऑडियो क्लिप की राजनीति शुरू हो गई है। सीएम शिवराज के बाद बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक ऑडियो (jyotiraditya scindia audio clip) वायरल हो रहा है।

वायरल ऑडियो (jyotiraditya scindia audio clip) में टिकट के लिए 50 लाख रुपये की लेन-देन की बात हो रही है। वायरल ऑडियो के बारे में दावा किया जा रहा है कि यह विधानसभा चुनाव के वक्त का है।

कथित रूप से वायरल ऑडियो में अनिता जैन नाम की महिला को टिकट देने की बात थी। लेकिन अशोकनगर से उसे टिकट नहीं मिल पाया। महिला इस ऑडियो में किसी अग्रवाल नाम के शख्स को 50 लाख रुपये देने की बात कर रही है। ऑडियो की शुरुआत में अनिता पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रणाम करती है। उसके बाद उधर से सिंधिया कहते हैं कि सॉरी अनिता इस बार मैं कुछ नहीं करवा पाया।

रोने लगती है महिला

टिकट की दावेदार अनिता कहती है कि महाराज सभी समाज के लोग मेरे पक्ष में हैं। ऐसा पहली बार हो रहा है कि अशोकनगर सीट कांग्रेस के पक्ष में जा रही है। मैंने पूरी तैयारी कर ली है। वहीं, अशोकनगर सीट से दूसरे दावेदार के बारे में महिला बुराई कर रही है। अनिता बोल रही है कि वह जीतेगा नहीं महाराज, अशोकनगर में उसका काफी विरोध है। टिकट के लिए अनिता वायरल ऑडियो में रोते हुए अपनी बात रख रही है।

पूरी रखवाली करूंगा

वहीं, अनिता को ज्योतिरादित्य सिंधिया आश्वासन देते हैं कि तुम चिंता नहीं करो। मुझे मालूम है, हमारी सरकार बनेगी। मैं तुम्हारी पूरी रखवाली करूंगा। पूरा न्याय और सम्मान दिलवाऊंगा। इसके बात अनिता किसी जज्जी नाम के शख्स का आरोप लेकर कहती है कि वह हर चुनाव में हत्या करता है। महाराज बोलते हैं कि मुझे मालूम है।

बातचीत के दौरान सिंधिया बोलते हैं कि अनिता इस बार क्या हुआ है कि जो लोग 5 हजार से कम से हारे हैं, उन्हें राहुल गांधी जी मध्यप्रदेश में सभी को टिकट दिए हैं। इसलिए मैंने देर से अटका रखा था। लेकिन राहुल जी का निर्देश है तो क्या करें।

वहीं, वायरल ऑडियो को लेकर प्रदेश में सियासत शुरू हो गई है। सिंधिया समर्थकों ने इसे फर्जी बताया है। वहीं, अनिता जैन ने ऑडियो के बारे में एक अखबार से बातचीत करते हुए कहा है कि मेरा नाम सर्वे में था। टिकट कटने के बाद मेरे पास महाराज का फोन आया। बातचीत के दौरान वहां कई लोग मौजूद थे। मैं रोने लगी और फोन पटककर चली गई। वहां मौजूद कुछ लोगों ने फोन से ऑडियो क्लिप निकाल लिए और पीसीसी में भेज दिया। पैसे मुझे वापस मिल गए थे।

एमपी यूथ कांग्रेस ने लिखा है कि यह श्रीअंत का चाल, चरित्र और चेहरा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *